टूलकिट मामला: कांग्रेस की फिर बढ़ी मुश्किल, बीजेपी ने उजागर किया टूलकिट बनाने वाले का नाम

कांग्रेस पार्टी की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही है. वही अब टूलकिट मामले में एक बार फिर से कांग्रेस की परेशानी बढ़ गयी है. दरअसल भाजपा ने एक टूलकिट जारी किया है जिसमें कहा गया है कि कोरोना महामारी का इस्तेमाल कांग्रेस ने मोदी सरकार और भारत को दुनिया भर में बदनाम करने के लिए किया ताकि राजनीतिक फायदा उठाया जा सके. जिस पर बवाल छिड़ गया है और एक बार फिर से बीजेपी ने कांग्रेस पर निशाना साधा है.

जानकारी के लिए बता दें कि बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में दावा करते हुए सौम्या वर्मा के सोशल मीडिया अकाउंट्स का ब्योरा दिया है. साथ ही उनकी पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और गौड़ा के साथ कुछ तस्वीरें भी साझा कीं. इतना ही नहीं उन्होंने ये भी कहा कि ‘कांग्रेस ने कल पूछा था कि टूलकिट किसने तैयार किया है? कृपया इस पेपर की सामग्री देखिए. इसे सौम्या वर्मा ने लिखा है. सबूत खुद बताते हैं कि यह सौम्या वर्मा कौन है. क्या सोनिया गांधी और राहुल गांधी जवाब देंगे?

‘इसके अलावा उन्होंने ये भी कहा कि ‘हम जो सबूत आपके सामने रख रहे हैं, वह साबित करते हैं कि सौभ्‍या वर्मा अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के शोध विभाग का अहम हिस्सा ही नहीं है बल्कि वह यहां मुख्य भूमिका में रहती हैं. इस टूलकिट को तैयार करने वाले का नाम आज सामने आ गया है और सबूतों से यह स्थापित भी हो चुका है. अब कांग्रेस पार्टी इस पर जवाब दे कि क्या सौम्या वर्मा जी कांग्रेस की कार्यकर्ता हैं? क्या सौम्या वर्मा एआईसीसी के शोध विभाग में काम करती हैं? क्या वह राजीव गौड़ा के तहत काम करती हैं? क्या उन्होंने इस टूलकिट को तैयार नहीं किया है?’ जाहिर है कि इस मामले पर अब सियासत गरमा गयी है और कांग्रेस पार्टी की परेशानी भी बढ़ गयी है.