यास नाम के तूफान को देखते हुए रेलवे ने उठाया बड़ा कदम, बंगाल की खाड़ी में आज दस्तक देगा यास तूफान

कोरोना वायरस महामारी से जूझ रहे देश के सामने लगातार एक से बड़ी एक चुनौती दस्तक दे रही है. कोरोना महामारी की दूसरी लहर का सामना कर ही रहे थे कि तभी तौकते नाम के तूफान ने देश में आके भारी क्षति पहुँचाया है और अभी हम उस तूफान की तबाही से उबरने का प्रयास कर ही रहे थे कि तभी हमारे दरवाजे पर यास नाम का तूफान दस्तक देने लगा है जो बहुत ही चिंता की बात है.

आपको बता दें कि बंगाल की खाड़ी से आ रहा ये तूफान देश के पूर्वी भाग में तबाही मचा सकता है. ये चक्रवाती तूफान यास 26 मई को ओडिशा और पश्चिम बंगाल के किनारों से टकराने की संभावना जताई गयी है. बंगाल की खाड़ी के मध्य पूर्वी भाग में कम दबाव का क्षेत्र बनने की प्रक्रिया प्रारम्भ होना शुरू हो गया है और आज यानि 24 मई तक यास तूफान चक्रवाती तूफान का रूप धारण कर लेगा. मौसम विभाग के अनुमान के अनुसार इस चक्रवाती तूफान के कारण बंगाल और ओडिशा में 26 मई को भारी बारिश होने की आशंका है.

बता दें कि चक्रवाती तूफान यास के तबाही को ध्यान में रखते हुए भारतीय रेलवे ने 24 से 29 मई के बीच में चलने वाली 25 ट्रेनों को रद्द कर दिया है. रेलवे ने रद्द किये गये सभी ट्रेनों की सूचि जारी कर दी है. इस यास नाम के तूफान का सामना करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बैठक की थी. उन्होंने राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अधिकारीयों के साथ तैयारी को लेकर विशेष चर्चा भी की थी. यास तूफान का सामना करने के लिए नौसेना ने भी पूरी तरह से तैयारी कर ली है. पूर्वी भाग के किनारों पर नौसेना ने चार जहाजों और विमानों को स्टैंडबाय के तौर पर रखा है और साथ ही गोताखोरों का पूरा समूह और मेडिकल टीम को भी तैयार किया गया है. वायुसेना के भी 11 परिवहन विमान और 25 हेलीकॉप्टरों को तैयार किया गया है.