कोरोना वायरस के नए रूप को ‘इंडियन वैरिएंट’ कहे जाने पर सरकार हुआ सख्त, सुचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने सभी कम्पनियों को लिखा पत्र

देश में कोरोना का कहर बहुत ही अधिक आतंक मचाया हुआ था. वही इस समय अच्छी खबर ये है कि देश में कोरोना महामरी की दूसरी लहर में लगातार नरमी आ रही है. पिछले दो हफ्ते के दौरान संक्रमण दर में करीब 10 फीसदी की गिरावट आई है. जो हमारे लिए काफी अच्छी खबर है लेकिन पिछले कुछ दिन पहले हालात बहुत अधिक बिगड़े हुए थे. कोरोना वायरस के नए – नए रूपों का सामने आना हमें डराने लगा था.

आपको बता दें कि कोरोना वायरस के नए रूपों के मिलने की वजह से इंडियन वैरिएंट शब्द का बहुत अधिक प्रयोग होने लगा था और इसी बात से सरकार नाराजगी जताते हुए सख्त हो गई है. सरकार अपनी नाराजगी में सोशल मीडिया कंपनियों से भारतीय वैरिएंट कहे जाने वाले सभी कंटेंट को अपनी प्लेटफार्म से हटाने का आदेश दिया है. सरकार का इस तरह से नाराज होना उचित ही है.

इस सम्बन्ध में आप को बता दें कि सुचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने सोशल मीडिया कम्पनियों को पत्र लिखकर बताया है कि ऐसी सभी प्रकार के साम्रगी को जल्द से जल्द हटाने के लिए आदेश दिया गया है. जो कोरोना महामारी के नए स्वरूप को भारत देश से जोड़ती है. न्यूज़ एजेंसी PTI के अनुसार आप को बता दें कि केन्द्र सरकार ने अपने पत्र में कहा है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने एपीआई किसी भी रिपोर्ट में कोरोना वायरस के B.1.617 वैरिएंट के लिए इंडियन वैरिएंट शब्द का प्रयोग नहीं किया है. इस वजह से सोशल मीडिया पर इससे सम्बंधित जितने भी कंटेंट हैं उन्हें हटाया जाना चाहिए.