केदारनाथ धाम के खोले गये कपाट लेकिन कोरोना महामारी को ध्यान में रखते हुए अस्थायी रूप से चारधाम यात्रा रहेगी स्थगित

चारधाम यात्रा वर्ष 2021 के केदारनाथ धाम के कपाट खोल दिए गये हैं. पुरे दुनिया में प्रसिद्ध भगवान शिव के इस केदारनाथ मंदिर को पुरे विधि – विधान और मन्त्रों के गूंजते ध्वनि के साथ आज यानि सोमवर को मेष के शुभ मुहूर्त के पुनर्वसु नक्षत्र में सुबह पांच बजे भोर में खोले गये. मंदिर को पुरे तैयारियों के साथ खोला गया है. केदारनाथ मंदिर को पूरी तरह से फूलों से सजाया गया है. भगवान शंकर की इस केदारपुरी नगरी की सुन्दरता को देखते ही बन रहा है.

आपको बता दें कि कोरोना के कहर के कारण ये दूसरी बार है जब भगवान शिव के इस अद्भुत मंदिर का कपाट खोला गया हो और यहां भक्तों का जयकारा नहीं गूंजा है. नहीं तो ऐसे यहाँ भक्तों का ताँता लगा रहता था. केदारनाथ मंदिर में कपाट खुलने के बाद पहले रुद्राभिषेक पूजा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से की गई है. प्रधानमंत्री जी ने अपने पूजा में जनकल्याण की कामना किये हैं.

आपको बता दें रावल भिमाशंकर, मुख्य पुजारी बागेश लिंग, देवस्थानम बोर्ड के अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी बी.डी सिंह और जिलाधिकारी रुद्रप्रयाग मनुज गोयल ने पूर्व द्वार से मंदिर के मुख्य प्रांगण में प्रवेश किया. इसके बाद मंदिर के मुख्य द्वार पर पूजा अर्चना की गई. मंत्रोच्चारण के ध्वनि के साथ शुभ मुहूर्त को देखते हुए सुबह 5 बजे मंदिर का कपाट खोला गया. मंदिर का कपाट खोलने के बाद पुजारी बागेश लिंग ने स्वयंभू शिवलिंग को समाधि से जागृत किया इसके बाद निर्वाण दर्शनों के बाद श्रृंगार और रुद्राभिषेक पूजा किया गया. कोरोना महामारी को देखते हुए उत्तराखंड के डीआईपीआर की ओर से बयान में कहा गया है कि केदारनाथ चारधाम यात्रा को अस्थाई रूप से स्थगित कर दिया गया है. उन्होंने स्पष्ट तौर पर कहा है कि धामों में श्रद्धालुओं को आने की अनुमति नहीं है. वहां केवल पूजा अर्चना की जायेगी. सभी लोग अभी वर्चुअली दर्शन करें.