Oxygen की कमी के चलते हिन्दुस्तान जिंक ने राजस्थान में बाटलिंग संयंत्र लगाया, रोजाना 500 ऑक्सीजन सिलेंडरों का कर रहा उत्पादन

ऑक्सीजन बाटलिंग संयंत्र

ऑक्सीजन बाटलिंग संयंत्र

नई दिल्ली। वेदांता समूह की कंपनी, हिंदुस्तान जिंक (Hindustan Zinc) ने कहा कि उसने राजस्थान के राजसमंद (Rajasmand) जिले में ऑक्सीजन बॉटलिंग प्लांट (Oxygen bottling plant) स्थापित किया है जो प्रतिदिन 500 सिलेंडर आक्सीजन (Cylinder Oxygen) का उत्पादन कर रहा है। यह घोषणा ऐसे समय में हुई है जब देश को कोविड-19 (Covid-19) मामलों में ऑक्सीजन की कमी का सामना करना पड़ रहा है। कंपनी ने एक बयान में कहा कि इसके अलावा, कंपनी जल्द ही 1,200 सिलेंडर आक्सीजन उत्पादन के साथ एक आक्सीजन बॉटलिंग प्लांट शुरू करेगी जो जीवन रक्षक गैस की कमी को पूरा करने में मदद करेगा।

बयान में कहा गया है कि कोविड-19 रोगियों (Covid Patients) के इलाज के लिए प्रशासन को तरल ऑक्सीजन प्रदान करने के बाद, कंपनी एक कदम आगे बढ़ गई है और एक आक्सीजन बाटलिंग संयंत्र के साथ प्रति दिन ऑक्सीजन के 500 सिलेंडर उपलब्ध करा रही है जिसे इस विशेष उद्देश्य के लिए स्थापित किया गया है।

Hindustan Zinc Limited ने कोविड-19 राहत कार्यो के लिए अपने प्रयासों को बढ़ाने के लिए स्थानीय निकाय प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के साथ हाथ मिलाया है। बॉटलिंग प्लांट के अलावा, कंपनी ने अब तक जिला प्रशासन को 101 टन तरल ऑक्सीजन प्रदान किया है। यह कोविड-19 महामारी के संदर्भ में राहत प्रयासों के क्षेत्र में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। इन प्रयासों को आगे बढ़ाने और समुदाय का समर्थन करने के लिए, कंपनी न केवल राजसमंद (Rajasmand) और उदयपुर (Udaipur) के क्षेत्रों में बल्कि राजस्थान में जोधपुर (Jodhpur) के अस्पतालों में ऑक्सीजन की मांग को पूरा करने में मदद करेगी।