कोरोना के खिलाफ आगे आईं प्रौद्योगिकी कंपनियां, Samsung 50 लाख डॉलर देगा, Paytm लगाएगा ऑक्सीजन संयंत्र

सैमसंग पेयटीएम

सैमसंग पेयटीएम

नई दिल्ली। कोरोना वायरस (Corona Virus) के बढ़ते मामलों की वजह से जो हाहाकार मचा हुआ है उससे अभी स्थिति सुधरती नहीं दिख रही है। पूरे देश भर में ही कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने महामारी पैदा कर दी है। हालांकि बड़ी कंपनियां आर्थिक नुकसान के बावजूद कोरोना के खिलाफ लड़ने में अपना भरपूर सहयोग दे रही हैं। प्रौद्योगिकी क्षेत्र की दिग्गज कंपनी सैमसंग (Samsung) ने कहा कि वह देश में कोरोना संक्रमण के खिलाफ जारी लड़ाई को मजबूती प्रदान करने के लिए 50 लाख डॉलर यानी 37 करोड़ रुपये की सहायता करेगा। वहीं, पेटीएम (Paytm) ने कहा है कि वह कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में वह भारत सरकार को मदद करते हुए 12 से 13 शहरों में ऑक्सीजन संयंत्र (Oxygen plant) लगाएगा।

Samsung ने एक बयान में कहा कि वह केंद्र और उत्तर प्रदेश तथा तमिलनाडु सरकार को तीस लाख डॉलर की मदद करेगा। वह बीस लाख डॉलर की चिकित्सा सामग्री भी देगा जिसमे 100 ऑक्सीजन कॉन्सेंट्रेटर (Oxygen concentrator), तीन हजार ऑक्सीजन सिलेंडर (Oxygen Cylinder) और दस लाख एलडीएस सिरिंज (Lds syringe) शामिल हैं। उसने कहा कि एलडीएस सिरिंज इंजेक्शन में भरे जाने वाली दवा की बर्बादी का कम करने में काम आता है। इस सिरिंज से वैक्सीन की डोज की बर्बादी भी कम होगी। सैमसंग ने इन सीरिंज के निर्माता को उत्पादन क्षमता बढ़ाने में मदद भी की है।

Samsung अपने कर्मचारियों को फ्री टीका भी लगवाएगा

सैमसंग ने कहा कि वह अपने पचास हजार से अधिक कर्मचारियों को कोरोना का टीका (Corona Vaccination) भी लगवायेगा जिसका खर्च वह खुद उठाएगा। सैमसंग ने इस पहले अप्रैल 2020 में कोरोना के खिलाफ शुरूआती जंग में बीस करोड़ का योगदान दिया था। वही पेटीएम ने भी कहा कि उसका योगदान भी 20 करोड़ रुपये तक पहुंच गया। पेटीएम फॉउंडेशन भी कोरोना संक्रमण के नियंत्रण में मदद करने के लिये 12 से 13 शहरों में ऑक्सीजन प्लांट स्थापित करेगा। ये ऑक्सीजन प्लांट सीधा अस्पतालों में स्थापित किये जायेंगे। पेटीएम ऑक्सीजन संयंत्रों की स्थापना के लिए राज्य सरकारों और अस्पतालों के साथ बातचीत कर रहा है। ये संयंत्र पेटीएम फाउंडेशन द्वारा सरकारी अस्पतालों को निशुल्क प्रदान किए जाएंगे।