चुनाव से पहले TMC छोड़ भाजपा में हुई थी शामिल, अब चिठ्ठी लिख कहा ‘दीदी के बिना नहीं रह सकती, पार्टी में वापस ले लो’

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव से पहले ऐसा लग रहा था कि भाजपा इस बार बंगाल में ममता बनर्जी का किला भेद कर इतिहास रच देगी. चुनाव से पहले भाजपा ने दीदी के खेमे में सेंध लगाई और उनके कई भरोसेमंद साथियों को अपने पाले में कर लिया. TMC के कई तत्कालीन विधायक और बड़े नेता एक एक कर भाजपा में शामिल होने लगे.कईयों को पार्टी ने टिकट भी दिया लेकिन बंगाल के नतीजे नहीं बदले. ममता बनर्जी और मजबूत हो कर उभरीं. जिसके बाद TMC छोड़ कर भाजपा में आये दल-बदलुओं का अब पार्टी से मोह भंग होने लगा है. वो वापस TMC में जाने की सोचने लगे हैं. ऐसी ही एक नेता हैं सोनाली गुहा.

सोनाली गुहा को कभी ममता बनर्जी का बेहद करीबी माना जाता था. वो साए की तरह उनके साथ रहती थीं. लेकिन जब TMC ने उनका टिकट काट दिया तो चुनाव से पहले चार बार की विधायक सोनाली गुहा ने दीदी का साथ छोड़ कर भाजपा का दामन थाम लिया था. अब सोनाली को अपनी गलती का अहसास हो रहा है. उन्होंने कहा है कि वो दीदी के बिना नहीं रह सकतीं.

सोनाली गुहा ने चिट्ठी लिख कर पार्टी छोड़ने के लिए ममता बनर्जी से माफी मांगी है और वापस पार्टी में शामिल करने की गुजारिश की है. उन्होंने लिखा है, ‘मैं यह टूटे हुए दिल के साथ लिख रही हूं कि मैंने भावना में बहकर किसी अन्य पार्टी में शामिल होने का निर्णय ले लिया था और मैं वहां अभ्यस्त नहीं हो पाई. जिस तरह से मछली जल के बाहर नहीं रह सकती है, ठीक उसी तरह से मैं भी आपके बिना नहीं रह सकती हूं ‘दीदी.’ मैं माफी मांगती हूं और अगर आप मुझे माफ नहीं करती हैं तो मैं जी नहीं पाऊंगी. मुझे वापस आने दें और अपने स्नेह की छांव में जीवन व्यतीत करने का मौका दें.’ सोनाली गुहा ने अपनी चिट्ठी को सोशल मंदी पर भी शेयर किया है.