दिल्ली में ऑक्सीजन रिपोर्ट को लेकर संबित पात्रा ने केजरीवाल सरकार पर साधा निशाना, कहा ‘केजरीवाल के झूठ के कारण 12 राज्य प्रभावित हुए’

देश में अभी तक कोरोना का कहर खत्म नहीं हुआ है. वही दूसरी तरफ बता दें कि कोरोना की दूसरी लहर के संकट के समय में काफी परेशानियाँ का सामना करना पड़ा था. खास कर ऑक्सीजन की किल्लत. जिसके बाद इस मामले पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा एक ऑक्सीजन ऑडिट टीम बनाई गई थी, जिसकी शुरुआती रिपोर्ट अब सामने आ गयी है. जिसमें एक बड़ा खुलासा हुआ है.

रिपोर्ट के अनुसार बता दें कि जब दिल्ली सरकार द्वारा 1200 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की मांग का शोर मचाया जा रहा था. तब दिल्ली को सिर्फ 300 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की जरूरत थी. जिसे लेकर अब कई सवाल उठ रहे है. वही बीजेपी ने भी केजरीवाल सरकार पर कई सवाल उठाये है. बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि “केजरीवाल सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में कहा कि उन्होंने आईसीएमआर की गाइडलाइंस के मुताबिक ऑक्सीजन की कैल्कुलेशन की. मगर जब सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित कमेटी ने अरविंद केजरीवाल से आईसीएमआर की गाइडलाइन की कॉपी मांगी तो उन्होंने हाथ खड़े कर दिए. इसका मतलब अरविंद केजरीवाल ने सुप्रीम कोर्ट में झूठ बोला.”

साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि “6 मई को केजरीवाल प्रेस कॉन्फ्रेंस कर 700 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की मांग करते हैं. उसके कुछ घंटे बाद राघव चड्डा कहते हैं कि उन्हें 976 मीट्रिक टन ऑक्सीजन चाहिए. एक ही दिन में दो-दो अलग आंकड़ा बताया गया. ये कहीं न कहीं एक साजिश के तहत किया गया है, दिल्ली सरकार ने अपनी गलती छिपाने के लिए केंद्र पर ठीकरा फोड़ दिया.” इसके अलावा पात्रा ने कहा कि अरविंद केजरीवाल के झूठ के कारण 12 राज्यों में ऑक्सीजन की सप्लाई बाधित हुई क्योंकि सभी जगहों से ऑक्सीजन काटकर दिल्ली भेजना पड़ी. अगर इन राज्यों को ऑक्सीजन मिल जाती तो कितने लोगों की जान बच सकती थी. जाहिर है कि ऑक्सीजन की किल्लत को लेकर राजनीति काफी गरमा चुकी है.