बंगाल : भाजपा के लिए बुरी खबर, राज्यपाल से मिलने विधायकों संग पहुंचे सुवेंदु अधिकारी लेकिन 25 विधायक रहे गायब

बंगाल में विधानसभा चुनाव हुए अभी तो 2 महीने भी नहीं हुए और भाजपा बड़ी टूट के कगार पर जा खड़ी हुई है. अभी पिछले दिनों ही मुकुल रॉय भाजपा छोड़ कर TMC में जा चुके हैं. TMC में शामिल होते वक़्त उन्होंने कहा था कि मौजूद समय में कोई भी भाजपा में नहीं रहना चाहता . ऐसा लगता है उनकी बात सच साबित होने वाली है. क्योंकि चुनाव से पहले TMC से भाजपा में गए कई नेता वापस TMC में लौटने को बेताब है. इनमे कई ऐसे नेता भी हैं जो भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ कर विधायक भी बन गए. अब भाजपा में बड़ी टूट की अटकलें लगाई जा रही है. इसका इशारा सोमवार को तब मिला जब सुवेंदु अधिकारी पार्टी के विधायकों के साथ राज्यपाल से मिलने राजभवन गए.

सोमवार को विधानसभा में भाजपा के नेता सुवेंदु अधिकारी के नेतृत्व में पार्टी के विधायक राज्यपाल जगदीप धनखड़ से मिलने पहुंचे. इस मुलाकात का मकसद राज्य में चुनाव बाद भाजपा कार्यकर्ताओं के खिलाफ जारी हिंसा का मुद्दा उठाना था. लेकिन भाजपा को झटका तब लगा जब पार्टी के दो दर्जन विधायक सुवेंदु के साथ नहीं पहुंचे. इन विधायकों में से ज्यादातर उत्तर बंगाल से सम्बंधित हैं. उत्तर बंगाल वही इलाका है जो चुनाव बाद हिंसा से सबसे ज्यादा प्रभावित रहा और जहाँ से भाजपा कार्यकर्ताओं के पलायन कर असम जाने की ख़बरें आई थी.

शुभेंदु अधिकारी सोमवार को भारतीय जनता पार्टी के 50 विधायकों के साथ राज्यपाल से मिले. लेकिन इस वक्त पश्चिम बंगाल विधानसभा में बीजेपी के 75 विधायक हैं. यानी 25 विधायक शुभेंदु अधिकारी के इस शक्ति प्रदर्शन में शामिल नहीं रहे. जिसके बाद पार्टी में टूट की अटकलें तेज हो गई. जब इसको लेकर शुभेंदु अधिकारी से सवाल हुआ तो उन्होंने कहा कि इसमें सभी लोगों को नहीं बुलाया था. जितने विधायक आये हैं, उन्हें ही बुलाया गया था.