नहीं रहे केरल के प्रसिद्ध फोटोग्राफर और फिल्म मेकर सिवन, 89 की उम्र में हार्ट अटैक के कारण हुआ निधन

नहीं रहे केरल के प्रसिद्ध फोटोग्राफर और फिल्म मेकर सिवन, 89 की उम्र में हार्ट अटैक के कारण हुआ निधन

नहीं रहे केरल के प्रसिद्ध फोटोग्राफर और फिल्म मेकर सिवन, 89 की उम्र में हार्ट अटैक के कारण हुआ निधन

केरल के प्रसिद्ध फोटोग्राफर और फिल्म मेकर सिवन (Sivan) का 89 साल की उम्र में निधन हो गया है। हार्ट अटैक के कारण गुरुवार को उनका निधन घर पर ही हो गया। उनके बेटे संगीत सिवन (Sangeeth Sivan) ने इस बात की जानकारी सोशल मीडिया पर शेयर की है। एक ट्वीट शेयर करते हुए संगीत सिवन ने लिखा, 'हर एक चीज के लिए धन्यवाद डैड। आपके बिना एक दुनिया की कल्पना करना मुश्किल है, लेकिन हम आपके द्वारा हमारे लिए बनाए गए मार्ग पर चलना जारी रखेंगे, हम इस बात को जानते हैं कि आप बादलों और सितारो में अपने स्थान से हमारा मार्गदर्शन करेंगे।' सिवन के तीन बेटे संगीत सिवन, संतोष सिवन (Santosh Sivan) और संजीव सिवन (Sanjeev Sivan) है और एक बेटी सरिता राजीव (Saritha Rajeev) है।

साल 1959 में तिरुवनंतपुरम स्टैच्यू जंक्शन पर उन्होंने 'सिवन स्टूडियोज' (Sivan Studios) की स्थापना की, जो बहुत लोकप्रिय और सांस्कृतिक मामलों के लिए एक प्रसिद्ध केंद्र था। सिवन केरल के पहले प्रेस फोटोग्राफर थे। सिवन एक लोकप्रिय स्टिल फोटोग्राफर थे। उन्होंने फिल्म उद्योग में अपने करियर की शुरुआत साल 1965 में आई क्लासिक मलयालम फिल्म 'चेम्मीन' (Chemmeen) से की थी। बाद में उन्होंने 'यागम', 'अभयम', 'कोच्चू कोच्चू मोहंगल', 'ओरु यात्रा', 'किलिवाथिल' और 'केशु' जैसी फिल्मों का निर्देशन किया। 1991 में आई 'अभयम' (Abhyam) का उन्होंने निर्देशन किया था, जिसे सर्वश्रेष्ठ बाल फिल्म का राष्ट्रीय पुरस्कार मिला था।

गौरतलब है कि केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन (Pinarayi Vijayan) , कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रमेश चेन्निथला, विधानसभा अध्यक्ष एम बी राजेश और अन्य नेताओं ने सिवन के निधन पर शोक जताया है। मुख्यमंत्री विजयन ने अपने शोक संदेश में कहा कि सिवन फिल्म जगत में अपनी सिनेमेट्रोग्राफी प्रतिभा के कारण एक प्रख्यात नाम थे। विधानसभा स्पीकर एम बी राजेश (M B Rajesh) ने सिवन के निधन पर शोक व्यक्त किया और कहा कि वह राज्य की राजधानी के सांस्कृतिक क्षेत्र में काफी एक्टिव थे। राजेश ने कहा, "तिरुवनंतपुरम में पहले प्रेस फोटोग्राफर के रूप में, उन्होंने कई ऐतिहासिक पलों को कैद किया।"