गहलोत-पायलट गुट में तनातनी के बीच संगठन में बदलाव को लेकर हलचल हुई तेज़, AICC ने सभी जिलाध्यक्ष के लिए मांगे नाम

राजस्थान कांग्रेस में कलह खत्म नहीं हो रही है. दरअसल गहलोत गुट और सचिन पायलट गुट के बीच में तनाव बना ही हुआ है. जिसके कारण राजस्थान की सियासत में आये दिन हलचल मची हुई है और इन्ही कारणों से राजस्थान में कलह कम नहीं हो पा रही है. जानकारी के लिए पता हो कि जहाँ एक तरफ पायलट गुट लगातार कैबिनेट विस्तार को लेकर मांग कर रहा है. वही कैबिनेट विस्तार को लेकर एक बड़ी जानकारी सामने आ रही है.

जानकारी के लिए बता दें कि कांग्रेस हाईकमान ने संगठन में बदलाव की प्रक्रिया शुरू कर दी है. बता दें कि AICC ने सभी जिला प्रभारियों से जिलाध्यक्ष के लिए नामों की लिस्ट मांगी है. साथ ही इन नामों को किस जनप्रतिनिधि का समर्थन प्राप्त है, उसकी सूची भी हाईकमान ने मांगी है. दरअसल कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव और प्रभारी अजय माकन के निर्देश पर ये सूची मांगी गयी है और मिल रही जानकारी के अनुसार कांग्रेस हाईकमान संगठन में सीधे तौर पर नियुक्ति करेगा.

बता दें कि राजस्थान कांग्रेस में करीब 11 महीने से जिलाध्यक्ष का पद खाली पड़ा है. दरअसल पिछले साल सचिन पायलट को अध्यक्ष पद से हटाये जाने के बाद से ही स्थान खाली पड़ा हुआ है. इसके अलावा पता हो कि हाल ही में पायलट गुट के विधायक वीरेंद्र सिंह ने संगठन को लेकर सवाल उठाते हुए गोविंद सिंह डोटासरा पर निशाना साधा था. जाहिर है कि राजस्थान की सियासत में फ़िलहाल संगठन को लेकर हलचल मची हुई है.