डॉक्टर्स आज मनाएंगें काला दिवस, जानिये क्या है वजह की डॉक्टरों ने उठाया ऐसा कदम

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन और योग गुरु बाबा रामदेव के बीच का विवाद थमने की बजाय बढ़ता ही जा रहा है. बता दें कि पिछले कई दिनों से योगगुरु बाबा रामदेव एलौपैथ के खिलाफ बयान दे रहे हैं. उनका कहना है कि कोरोना के 10 फिसद मरीज ही एलौपैथ से स्वस्थ्य हुए हैं और बाकि 90 फिसद मरीज आयुर्वेद से स्वस्थ्य हुए हैं. उनके इस बयान से एलौपैथ के सभी डॉक्टर्स बहुत ही नाराज हैं

आपको बता दें कि इसी वजह से देश में हजारों डॉक्टर्स अपनी नाराजगी जाहिर करते हए आज काला दिवस मनाएंगे. बाबा रामदेव के दिए गये बयान को लेकर पुरे देशभर के डॉक्टर लगातार उन पर कार्यवायी की मांग कर रहें हैं. अपनी मांग को रफ्तार देने के लिए आज रेसिडेंट डॉक्टर्स के फेडरेशन आज ब्लैक डे मनाएंगे. डॉक्टर्स का ये भी कहना है कि इस ब्लैक डे को मनाने की वजह से पुरे देशभर के मरीजों के उपचार पर कोई असर नहीं पड़ेगा.

इसी के साथ ही फेडरेशन ऑफ रेसिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन इंडिया ने घोषणा किया है कि उनके सभी सदस्य डॉक्टर देश के अलग – अलग भाग में ब्लैक डे मनायेंगे. ब्लैक डे मनाने के समय सभी हेल्थवर्कर्स पीपीई किट पर काली रंग की पट्टी बांधकर काम करेंगे और मरीजों को कोई परेशानी नहीं होने देंगें बता दें कि देश की राजधानी दिल्ली का एम्स अस्पताल भी डॉक्टरों द्वारा किये जा रहे इस प्रदर्शन में भाग लेगा. एम्स के रेसिडेंट डॉक्टर्स ने इस काला दिवस का समर्थन किया है. बाबा रामदेव के खिलाफ यह काला दिवस डॉक्टरों द्वारा मनाया जा रहा है.