शिवसेना की राहुल गाँधी को नसीहत, कहा ‘विपक्ष को साथ लाने के लिए शरद पवार के साथ मिलकर करें काम’

बीते कुछ समय से शिवसेना और कांग्रेस पार्टी के बीच तनाव देखने को मिल रहा है. जिसकी वजह से आये दिन महाराष्ट्र की सियासत में हलचल भी देखने को मिलती है. वही एक बार फिर से कांग्रेस पार्टी को शिवसेना ने नसीहत दे दी है.

जानकारी के लिए बता दें कि शिवसेना ने कहा कि केंद्र में सत्तारूढ़ भाजपा का सामना करने के मकसद से सभी विपक्षी पार्टियों को साथ लाने के लिए कांग्रेस नेता राहुल गांधी को NCP अध्यक्ष शरद पवार के साथ मिलकर काम करना चाहिए.  इतना ही नहीं शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ में एक संपादकीय में कहा ‘गांधी केंद्र पर और उसकी नीतियों पर निशाना साधते हैं. साथ ही ये भी लिखा कि ‘उन्हें पता है कि देश में स्थिति उनके हाथों से निकल गई है. लोगों के आक्रोश के बावजूद, भाजपा और सरकार को आत्मविश्वास है कि उनके सामने कोई खतरा नहीं है क्योंकि विपक्ष कमजोर एवं अलग-थलग है.’

इसके साथ ही शिवसेना ने अपने संपादकीय में लिखा कि “राहुल गांधी को सभी विपक्षी पार्टियों को साथ लाने के लिए पवार के साथ हाथ मिलाना चाहिए.”  साथ ही ये भी शिवसेना ने कहा कि “शरद पवार सभी विपक्षी पार्टियों को साथ ला सकते हैं. लेकिन फिर, सवाल नेतृत्व का उठता है. अगर हम कांग्रेस से अगुवाई की उम्मीद करते हैं तो पार्टी खुद बिना किसी राष्ट्रीय अध्यक्ष के चल रही है.” जाहिर है कि एक तरफ NCP प्रमुख सभी विपक्षी पार्टियों को एक जुट करने में लगे है ताकि बीजेपी और पीएम मोदी के खिलाफ मोर्चा खोल सके.