किसान नेता राकेश टिकैत ने दी धमकी, जानिए क्या है पूरा मामला

केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों के खिलाफ पिछले साल से शुरू हुआ किसान आन्दोलन खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है. जिसकी वजह से लगातार बॉर्डर पर तनाव बना हुआ है. बता दें कि किसान आन्दोलन को सात महीने पूरे हो चुके है. लेकिन किसान आन्दोलन खत्म नहीं कर रहे है और अपनी मांगों पर अड़े हुए है.

वही आज दिल्ली के गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों और बीजेपी के कार्यकर्ताओं के बीच हंगामा हो गया. दरअसल बताया जा रहा है कि बीजेपी के कार्यकर्ता पार्टी के एक नेता का स्वागत करने वहां पहुंचे थे. लेकिन वहां पर अचानक बवाल शुरू हो गया. साथ ही साथ कार्यकर्ताओं का आरोप है कि किसानों ने हंगामा किया और पथराव करना शुरू कर दिया. इतना ही नहीं स्थिति इस कदर ख़राब हो गयी कि हालातों पर काबू पाने के लिए पुलिस को आना पड़ा.

वही इस मामले पर अब किसान नेता राकेश टिकैत ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा कि बीजेपी नेता हमारे मंच पर आए थे और अपने नेता का स्वागत करने लगे थे, यह गलत है. इसके साथ ही टिकैत ने आरोप लगते हुए कहा कि मंच सड़क पर है तो इसका मतलब ये नहीं है कि मंच पर आ जाओगे, अगर मंच पर आना है तो बीजेपी छोड़कर आओ, लेकिन यह दिखाना कि हमने गाजीपुर के मंच पर भाजपा का झंडा फहरा कर कब्जा कर लिया, यह गलत है, ऐसे लोगों के बक्कल उधेड़ दिया जाएगा, प्रदेश में फिर कहीं भी नहीं जा सकते हैं. याद रख लेना.

इतन अहि नहीं टिकैत ने धमकी देते हुए कहा कि अगर मंच पर झंडा लगाकर कब्जा करेंगे तो उनका इलाज करेंगे, हां मैं धमकी दे रहा हूं, मंच पर कब्जा करके किसी का स्वागत करेंगे, पुलिस की मौजूदगी में बीजेपी के लोग मंच पर कब्जा करना चाहते थे, अगर मंच इतना प्यारा है तो इस आंदोलन में शामिल हो जाओ, ऐसी बीमारी क्यों है. जाहिर है कि सरकार लगातार किसानों से कई बार बात कर चुकी है लेकिन किसान अपनी जिद्द पर अड़े हुए है और इसी वजह से अब सरकार और किसानों के बीच तनाव बनता ही जा रहा है.