पर्ल वी पुरी केस में पीड़िता के पिता ने जारी किया स्टेटमेंट, कहा- बेटी ने डरते हुए बतायी थी यह बात

पर्ल वी पुरी केस मे पीड़िता के पिता ने जारी किया स्टेटमेंट, कहा- बेटी ने डरते हुए बतायी थी यह बात

पर्ल वी पुरी केस मे पीड़िता के पिता ने जारी किया स्टेटमेंट, कहा- बेटी ने डरते हुए बतायी थी यह बात

एक्टर पर्ल वी पुरी (Pearl V Puri) केस में हर रोज एक नया बयान सामने आ रहा है। जहां एक ओर पीड़िता की मां एक्टर को निर्दोष बताते हुए कह रही है कि पर्ल पर लगे हुए सारे इल्जाम झूठे है। वहीं इस मामले में शिकायत करने वाले पीड़िता के पिता का स्टेटमेंट सामने आया है। पीड़िता के पिता का कहना है कि बच्ची जब काफी टाइम बाद उनसे मिली तो उसने डरते हुए उसके साथ हुई इस घटना के बारें में बताया था।

एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार वकील ने पीड़िता के पिता की ओर से एक स्टेटमेंट जारी किया है। उस स्टेटमेंट में लिखा है, 'मै वकील मिस्टर आशीष दुबे 5 साल की पीड़िता के पिता का वकील हूं और पर्ल वी पुरी केस में अपने क्लाइंट की तरफ से स्टेटमेंट दे रहा हूं। 5 साल की पीड़िता 5 महीनों तक अपनी मां की कस्टडी में थी और इन 5 महीनों तक बच्ची के साथ उसके पिता का कोई संपर्क नहीं था। एक दिन पीड़िता के पिता जब स्कूल में उसकी फीस जमा करने गए तो वह भागी हुई पिता के पास आई और कहा कि उसे डर लग रहा है और वह उनके साथ जाना चाहती है। पीड़िता बच्ची के चेहरे पर डर के भाव को देखकर पिता उसे अपने साथ घर ले आए। घर पहुंचने पर बच्ची ने अपने साथ घटा पूरा हादसा बताया। पिता ने तुरंत पुलिस को बुलाया और बच्ची की मेडिकल जांच के बाद कन्फर्म किया गया कि पीड़िता बच्ची सच बोल रही है। उसका मोलेस्टेशन किया गया है।'

स्टेटमेंट के मुताबिक ये कहा गया है कि, क्योंकि पीड़िता बच्ची ने उस शख्स की पहचान उसके ऑनस्क्रीन नाम 'रघबीर' से की थी और पिता टीवी सीरियल देखते नहीं है इसलिए वह नहीं पहचान पाए कि रघबीर कौन है और ना ही उन्हें इस बात का कोई अंदाजा था कि यह नाम किसी एक्टर के ऑनस्क्रीन किरदार का नाम है। इसके बाद स्टेटमेंट में लिखा गया है, 'जांच जब आगे बढ़ी तो पता चला कि रघबीर एक ऑनस्क्रीन कैरेक्टर का नाम है और वो कैरेक्टर जिसने प्ले किया था उसका नाम पर्ल वी पुरी है।' इसके साथ ही जारी किए गए स्टेटमेंट में यह भी कहा गया कि पीड़िता बच्ची को जब तस्वीरें दिखाई गई तो उनमें पीड़िता ने पर्ल वी पुरी को पहचान लिया और कन्फर्म किया कि यह वही है जिसने उसके साथ शोषण किया। इसके बाद पुलिस ने पीड़िता बच्ची से बात भी की और अकेले में मजिस्ट्रेट से भी मिलवाया गया।

इतना ही नहीं स्टेटमेंट में पीड़िता बच्ची के पिता ने अपनी शादी को लेकर उठ रहे बवाल का भी जवाब दिया है। उनका कहना है कि ये सारे आरोप केस पर से ध्यान भटकाने के लिए लगाए जा रहे हैं। एक शादी अच्छी है या बुरी उससे बच्ची के साथ घटी इस घटना का कोई लेना-देना नहीं है। घटना की पुष्टि मेडिकल रिपोर्ट से हुई है। पीड़िता बच्ची के पिता ने आगे कहा है कि वह हाथ जोड़कर विनती करते हैं कि कानून को अपना काम करने दीजिए और उनकी बच्ची पर झूठा होने के आरोप न लगाएं।