क्या फिर बीजेपी में जाने वाले हैं शत्रुघन सिन्हा ? सवाल का दिया ऐसा जवाब

अभी हाल ही में राहुल गाँधी और प्रियंका गाँधी के करीबी समझे जाने वाले जितिन प्रसाद का भाजपा में शामिल होना कांग्रेस के लिए एक बड़ा अघात है. इसी के साथ ही यह एक तथ्य है कि कांग्रेस में ऐसे नेताओं की संख्या बढ़ती जा रही है. जिनका कांग्रेस पार्टी से मोह भंग होते जा रहा है. हर चार छह महीने के बाद कांग्रेस का कोई न कोई नेता पार्टी से बाहर निकल जा रहा है. इस स्थिति के लिए कांग्रेस नेतृत्व अपने अलावा अन्य किसी को भी दोषी नहीं मान सकता है. आखिर कुछ तो ऐसा है जिसके चलते कांग्रेस नेता पार्टी में अपना भविष्य नहीं देख पा रहे हैं. फिलहाल इस समय शत्रुघन सिन्हा पार्टी छोड़ने के चर्चा में नजर आ रहे हैं. आईये जानते हैं कि क्या शत्रुघन सिन्हा पार्टी छोड़ने जा रहें हैं.

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ में शत्रुघन सिन्हा ने बीते रविवार को एक ट्वीट किया था. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा था कि अपने दुःखों से दुःखी, दूसरों के दुःख से दुःखी, दूसरों के सुख से दुःखी और फिर आगे लिखा कि बिना बात खामखां मोदी से दुःखी. इसी ट्वीट को लेकर यह माना जा रहा था कि शत्रुघन सिन्हा घर वापसी के मूड में हैं.

हालांकि शत्रुघन सिन्हा ने इसे सिरे से खारिज कर दिया और साथ ही ये भी बताया कि उन्होंने ये ट्वीट हास्य के तौर पर किया था. पार्टी बदलने की उनकी कोई इच्छा नहीं है. शत्रुघन सिन्हा की बात कितनी सही है और कितनी गलत ये तो वही जाने. लेकिन उनके किये गये ट्वीट के माध्यम से ये समझा जा सकता है कि वे कांग्रेस से नाराज दिखायी दे रहें हैं और भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने के रास्ते तलाश रहें हैं.