मायावती ने किया ऐसा फैसला, जो उनपर ही भारी पड़ने वाला है

मायावती बहुत ही बड़ी नेता मानी जाती है. काफी समय तक वो उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री भी रही और जब नही रही है तब भी मायावती का नाम दलित नेता के तौर पर गूंजता रहा. कही न कही मायावती ने अपने आपको बहुत ही उंचाई पर स्थापित किया है और हर तरह से मायावती ने अपने आपको काफी ज्यादा बेहतर बनाया है और ये तो हम लोगो ने भी देखा ही है. मगर जब से उत्तर प्रदेश में योगी का उदय हुआ उसके बाद से बाकी नेता छोटे पड़ गये और मायावती का करियर भी एक तरह से समाप्ति की कगार पर पहुँच गया, फिर अभी हाल ही में एक और ऐसा ही फैसला आया है.

मायावती ने किया ऐलान, यूपी में नही होगा गठबंधन लेकिन पंजाब में कर लिया
साथ मायावती ने अभी हाल ही में एक अजीब सा फैसला किया है जो उत्तर प्रदेश और पंजाब दोनों की ही राजनीति को प्रभावित करने वाला है. मायावती ने कहा है कि उत्तर प्रदेश में कोई भी गठबंधन बसपा नही करने वाली है. यानी माया अब योगी जी के खिलाफ अकेले ही चुनाव लड़ने जा रही है और ये अपने आप में काफी अधिक हैरान व विचलित भी करता है क्योंकि अभी बसपा की हालत बड़ी खराब है और ऐसे में वो अकेले बीजेपी के सामने कैसे टिक पाएगी?

वही एक और हैरान करने वाला फैसला मायावती ने लिया है पंजाब में चुनाव लड़ने का. यहाँ पर वो अकाली दल के साथ में मिलकर के चुनाव लड़ेगी जहाँ पर बसपा के पास में बहुत कुछ ख़ास चुनावी जमीन भी नही है. ऐसे में लोग भी थोड़े हैरान है कि मायावती आजकल किसकी सलाह पर इस तरह के फैसले ले रही है और आगे चलकर के इसके परिणाम क्या होंगे ये तो आने वाला वक्त ही बता पायेगा.

खैर जो भी है अभी की स्थिति से हमें इतना तो पता चलता ही है कि जो कुछ भी हुआ है या फिर देखने में आया है उसके बाद में यूपी चुनाव ही सब पार्टीयो की वर्तमान राजनीतिक स्थिति को स्पष्ट कर पायेंगे.