राजस्थान कांग्रेस में जारी कलह के बीच पायलट गुट ने निर्दलीय विधायाकों पर तंज कसते हुए कह दी ये बड़ी बात

कांग्रेस पार्टी में इन दिनों हालत ठीक नहीं चल रहे हैं. कांग्रेस पार्टी का अंदरूनी विवाद बढ़ता ही जा रहा है. बता दें कि एक दिन पहले तेरह निर्दलीय विधायाकों ने अशोक गहलोत सरकार को समर्थन जारी रखने का फैसला लिया है. वहीं जब निर्दलीय विधायकों ने सचिन पायलट के गुट पर निशाना साधा तो इधर पायलट गुट भी चुप नहीं रह सका और उन्होंने जवाब देते हुए कहा कि शेर को गीदड़ घेरने चले हैं.

आपको बता दें कि राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अगुवाई वाली राज्य की कांग्रेस सरकार को सपोर्ट कर रहे 13 निर्दलीय विधयाकों ने बैठक किया है. इसी के साथ ही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के पक्ष में प्रस्ताव पास करने और वहीं सचिन पायलट के खिलाफ बयानबाजी का जवाब देते हुए पायलट गुट ने कहा कि सचिन पायलट शेर हैं और जब शेर निकलता है तो उसके मुकाबला करने के लिए गीदड़ एक जुट हो जाते हैं.

आगे उन्होंने कहा कि मगर ये सत्य है कि 100 गीदड़ों का झुण्ड भी चाहे तो शेर का शिकार नहीं कर सकता है. इसी के साथ ही सचिन पायलट गुट के विधायक इंद्रराज गुर्जर ने कहा कि कांग्रेस को इस समय निर्दलीय विधयाकों की कोई आवश्यकता नहीं है. ये निर्दलीय विधायकों की हमें कोई आवश्यकता नहीं है. उन्होंने स्पष्ट तौर पर कहा कि ये निर्दलीय विधायक कांग्रेस पार्टी की आपसी मामलों में दखल नहीं दें तो ही अच्छा होगा. ये हमारे घर का झगड़ा है और हम अपना झगड़ा सुलझाना जानते हैं. उन्होंने आगे कहा कि निर्दलीय विधायकों का कहना है कि वह अशोक गहलोत के साथ है कांग्रेस के साथ नहीं यह बेहद दुर्भग्यपूर्ण है.