एक साल बंद रहने के बाद भी नही सुधरी महबूबा, दिया ऐसा बयान

महबूबा मुफ़्ती को काफी लम्बे समय तक बंद रखा गया था, वो नजरबंद थी और आखिरकार जैसे तैसे लम्बे समय के बाद में कश्मीरी नेताओं को न सिर्फ छोड़ा गया है बल्कि पीएम मोदी ने उनके साथ में संवाद स्थापित करने की कोशिश भी की है. कही न कही ये बात तो हम लोगो ने भी देखी ही है. खैर जो भी है कहते है न कि आप चाहकर के भी कुछ लोगो के साथ में अच्छे सम्बन्ध स्थापित नही कर सकते है. यहाँ पर भी कुछ ऐसा ही होते हुए नजर आ रहा है.

महूबा ने कहा, केंद्र ने कश्मीर को जेल बना दिया
आपको मालूम हो तो अभी हाल ही में पीएम मोदी ने कश्मीरी नेताओं के साथ में मुलाकात की थी और इस मुलाक़ात के बाद में लोगो को लगा था कि कश्मीरी नेताओं का रवैया कुछ बदलेगा लेकिन ऐसा बिलकुल भी नही हुआ है. चीजे लगभग लगभग वैसी ही है और महबूबा ने इसे साबित कर दिया है. अभी हाल ही में केंद्र पर आरोप लगाते हुए महबूबा मुफ़्ती ने कहा कि केंद्र ने तो कश्मीर को जेल बना दिया है. आप हमें चैन से रहने दीजिये तभी यहाँ पर अमन आएगा.

महबूबा कहती है कि पीएम मोदी की संवाद प्रक्रिया को यहाँ पर विश्वसनीयता तब ही मिल सकती है जब कोई भी अपनी तरफ से असहमति भी जता सके. यही नही महबूबा अब भी अपनी उन्ही पुरानी बातो को लेकर के अडी हुई है जिनका पूरा हो पाना अब आज की तारीख में तो लगभग असंभव सा ही है. खैर जो भी है अभी के हिसाब से बात करे तो कश्मीरी नेता अभी भी अपने एजेंडे से दूर हट नही पा रहे है.

खैर जो भी है सच तो आज की तारीख में यही ही है कि सरकार के सामने हर किसी को जो क़ानून और नियम है वो मानने ही होंगे और जब तक कश्मीर में मामला संवेदनशील है तब तक छूट भी कैसे मिल पाएगी.