पश्चिम बंगाल हिं’सा पर फैक्ट फाइंडिंग की रिपोर्ट तैयार, ममता सरकार को बताया फेल

पश्चिम बंगाल में भले ही विधानसभा चुनाव संपन्न हो चुके है और एक बार फिर से बंगाल की सत्ता CM ममता बनर्जी के हाथों में आ गयी है लेकिन अब ममता बनर्जी की परेशानी बढ़ने वाली है. दरअसल बंगाल में चुनाव से पहले और चुनावों के बाद लगातार हिं’सा का सिलसिला जारी है. जिस वजह से अब ममता सरकार की मुश्किलें बढ़ने वाली है.

जानकारी के लिए बता दें कि बंगाल में चुनाव के बाद जो हिं’सा हुई उस पर अब सिविल सोसायटी ग्रुप ने रिपोर्ट तैयार कर ली है और इस रिपोर्ट को गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी को सौंप दिया गया है. दरअसल इस रिपोर्ट में कई बड़ी बातें सामने आई है. जिसमें से एक खास बात ये है कि ममता सरकार को हिं’सा रोकने के मामले असफल बताया गया है.

बताते चलते है रिपोर्ट के अनुसार कुछ बिन्दुओं को. जिसके आधार पर ममता सरकार की परेशानी बढ़ सकती है साथ ही जिन्हें रिपोर्ट में कहा गया है. जिसमें राज्य सरकार नागरिको के मूल अधिकार के संरक्षण में पूरी तरीके से फेल रही, चुनाव के बाद हुई हिं’सा संग’ठित हिं’सा थी, जो निर्दो’ष लोगों पर अटै’क कर रहे थे वो क्रि’मि’नल, मा’फ़िया डॉ’न, पुलिस रिकॉर्ड में सब क्रि’मि’नल, एक खास पार्टी के लोगों पर टा’रगे’ट करके ह’म’ले किए गए, शिकायत के बाद भी पुलिस ने किसी को गिर’फ्तार नहीं किया, पुलिस ने बड़ी लापरवाही की. शिकायत करने वाले को न्या’य ना देकर, उल्टा उनके ऊपर ही के’स दर्ज किए गए. जाहिर है कि बंगाल में चुनावों के बाद भी हिं’सा का सिलसिला जारी है. ऐसे में ममता सरकार कई सवालों के घेरे है. वही अब रिपोर्ट आने के बाद ममता सरकार की परेशानी बढ़ सकती है.