लोजपा में पड़ी फूट के बीच फिर छलका चिराग का दर्द, चाचा पशुपति को लेकर कहीं भावुक करने वाली बात

बिहार की राजनीति में अचानक से आए भूचाल ने चिराग़ पासवान को हिलाकर रख दिया है. लोजपा में पड़ी फूट ख़त्म होने का नाम नही ले रही है. उनके चाचा पशुपति पारस ने 5 सांसदों के साथ मिलकर चिराग़ को राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद से हटा दिया और पार्टी पर खुद की दावेदारी पेश कर दी.

जानकारी के लिए बता दें चिराग़ पासवान अपने चाचा पर लगातार निशाना साध रहे हैं. अब उन्होंने एक बार फिर भावुक अपील की है. चिराग़ ने चाचा से कहा है कि आप दिल पर हाथ रखकर बताइए कि क्या आज पापा खुश होंगे? मीडिया से बातचीत करते हुए उन्होंने बड़ी बात कहीं.

चिराग पासवान ने बातचीत में कहा कि जिनकी गोद में मैं खेला उन्ही ने आज हाथ खींच लिए. अब वो बात करने को तैयार नही हैं. चिराग़ ने आगे कहा कि पहले मैं बीमारी से लड़ा और अब परिवार से लड़ना पड़ रहा है. जब चाचा ने ही पीठ में छुरा घोंपा तो अब शिकायत किससे करूँ.

ग़ौरतलब है कि चिराग ने आगे कहा कि पार्टी नेतृत्व को लेकर चल रही जंग के बीच मैं चाचा के दरवाजे पर गया. वहां खड़े होकर बस उनसे एक रिक्वेस्ट करता रहा कि एक बार मुझसे बात कर लें. मैं आपका बेटा हूँ आपने मुझे चलना पढ़ना सब सिखाया. पापा के निधन हो गया छोटे चाचा का निधन हो गया. मैं पापा की छवि उनमें देखता था और अब उन्होंने ही हाथ खींच लिया.