जम्मू-कश्मीर के नेताओं के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बैठक के बाद उमर अब्दुल्ला ने दिया ये बयान

जम्मू – कश्मीर के नेताओं के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हुई महाबैठक के बाद नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने बयान दिया है. बता दें कि नेशनल कॉन्फ्रेंस के प्रमुख फारुख अब्दुल्ला ने श्रीनगर में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस किया है. इसी प्रेस कॉन्फ्रेंस में उमर अब्दुल्ला ने बयान दिया उन्होंने स्पष्ट तौर पर जम्मू – कश्मीर के विधानसभा चुनाव को लेकर कहा कि परिसीमन और पूर्ण राज्य का दर्जा देने को लेकर केंद्र की टाइम लाइन से हम सहमत नहीं हैं. आगे उन्होंने कहा कि पहले जम्मू – कश्मीर को पूर्ण राज्य का दर्जा मिले और फिर इसके बाद चुनाव की तैयारी की जाये.

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री द्वारा इस किये गये बैठक का एजेंडा राज्य के मौजूदा राजनीतिक परिदृश्य पर व्यापक रूप से चर्चा करना था. इसी के साथ ही इस बैठक में जम्मू-कश्मीर के भविष्य को लेकर भी विचार-विमर्श किया गया है. आपको बता दें कि नेशनल कॉन्फ्रेंस के प्रमुख फारुख अब्दुल्ला ने कहा कि देश के पहले प्रधानमंत्री ने हमसे जनमत संग्रह का वादा किया था. लेकिन पीछे हट गये.

वहीं उन्होंने ये भी बतया कि नरसिम्हा राव ने हमें स्वायत्तता देने का वादा किया था और वो भी पीछे हट गये. इससे अविश्वास का जन्म हुआ. जिसे अब वापस लेना होगा. उन्होंने कहा कि पहले विश्वास की बहाली हो. इसी के साथ उमर अब्दुल्ला ने प्रधानमंत्री के साथ हुई बैठक को लेकर कहा कि हमें वहां अलायंस के तौर पर बुलाया गया था. हम पार्टी के तौर पर वहां गये थे. हमने कहा कि कश्मीर के लोग काफी नाराज हैं वो इस फैसले से खुश नहीं हैं.