खालिस्तानी आ’तंकी भिंडरावाले को शहीद बता कर लोगों के निशाने पर आये क्रिकेटर हरभजन सिंह

रविवार 6 जून को ऑपरेशन ब्लू स्टार की 37 वीं बरसी थी. स्वर्ण मंदिर में खालिस्तान समर्थकों ने भिंडरावाले के पोस्टर लहराए और खालिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए. ये तो स्वर्ण मंदिर में हर साल ऑपरेशन ब्लू स्टार की बरसी पर देखने को मिलता है. लेकिन जिस एक चीज ने पूरे देश का ध्यान अपनी और खिंचा वो था क्रिकेटर हरभजन सिंह द्वारा अपने इंस्टाग्राम स्टोरी में लगाया गया एक पोस्ट. अपने इस पोस्ट में हरभजन सिंह ने खालिस्तानी आ’तंकी भिंडरवाले को शहीद बताया और उसे प्रणाम किया. जैसे ही लोगों की नज़र इस पोस्ट पर पड़ी उनका गुस्सा भड़क उठा.

हरभजन सिंह ने अपने इंस्टाग्राम पर जो स्टोरी शेयर की है, उसमें लिखा है कि “गर्व के लिए जियो, धर्म के लिए मरो. सभी शहीदों को प्रणाम”. हरभजन ने इस स्टोरी पोस्टर में जरनैल सिंह भिंडरवाले का एक फोटो भी लगाया गया है.

हरभजन सिंह का ये पोस्ट था ही भड़काऊ और लोग भड़के भी. आखिर हरभजन उस शख्स को महिमामंडित कैसे कर सकते हैं जिसने पंजाब में अलगाववाद की आ’ग लगाई और सिखों और हिन्दुओं के बीच नफरत की दीवार खड़ी की. जिस देश के लोगों ने हरभजन सिंह को इतना मान और सम्मान दिया उसी देश के खिलाफ साजिशें करने वाले आ’तंकी को शहीद कैसे बता सकते हैं हरभजन सिंह.सोशल मीडिया पर उन्हें जम कर खरी-खोटी सुनाई जा रही है. अभी तक हरभजन ने इस पूरे मुद्दे पर कोई सफाई नहीं दी है.