कार्तिक आर्यन भी हो रहें सुशांत सिंह राजपूत की तरह नेपोटिज्म का शिकार, अब अपूर्व असरानी ने कही बड़ी बात

कार्तिक आर्यन भी हो रहें सुशांत सिंह राजपूत की तरह नेपोटिज्म का शिकार, अब अपूर्व असरानी ने कही बड़ी बात

कार्तिक आर्यन भी हो रहें सुशांत सिंह राजपूत की तरह नेपोटिज्म का शिकार, अब अपूर्व असरानी ने कही बड़ी बात

पिछले कुछ दिनो से बॉलीवुड एक्टर कार्तिक आर्यन (Kartik Aaryan) काफी चर्चा में हैं। कार्तिक को एक के बाद एक फिल्मों से बाहर किया जा रहा हैं। खबरों के मुताबिक पहले उन्हें धर्मा प्रोडक्शन (Dharma Production) से बैन किया गया और उसके बाद शाहरुख खान (Shah Rukh Khan) की फिल्म 'फ्रैडी' से भी बाहर कर दिया गया। ऐसे में बॉलीवुड में नेपोटिज्म और आउटसाइडर का मुद्दा फिर से गर्माने लगा हैं। हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में नेपोटिज्म और आउटसाइडर की बहस कोई नयी नहीं हैं। यह बहस जब-तब तेज़ होने लगती हैं। हाल ही में कार्तिका आर्यन का सपोर्ट करते हुए डायरेक्टर अनुभव सिन्हा (Anubhav Sinha) ने ट्वीट किया था। जिसके बाद अब स्क्रीनराइटर और फिल्म एडिटर अपूर्व असरानी (Apurva Asrani) भी एक्टर का सपोर्ट करते हुए नजर आ रहे हैं।

फिल्म एडिटर अपूर्व असरानी का कहना है कि सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की तरह कार्तिक आर्यन को भी फिल्म इंडस्ट्री में आउटसाइडर होने का खामियाज़ा भुगतना पड़ रहा हैं। अपूर्व ने सोशल मीडिया पर अनुभव सिन्हा का ट्वीट शेयर करते हुए कहा कि अनुभव का सम्मान होना चाहिए। अपूर्व ने अपने ट्वीट में लिखा, 'कार्तिक आर्यन के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान की बात करने के लिए मैं अनुभव सिन्हा का सम्मान करता हूं। एक साल पहले मैंने इस मुद्दे पर ब्लॉग लिखा था कि किस तरह सुशांत सिंह राजपूत की बुलिंग की गई थी। इसके बाद मुझे कई पत्रकारों ने ब्लैकलिस्ट कर दिया था। मुझे लगता है कि बेहतरी के लिए कुछ बदलाव हो रहा है।'

आपको बता दें कि इससे पहले डायरेक्टर अनुभव सिन्हा कार्तिक आर्यन का सपोर्ट करते हुए नजर आए थे। अनुभव सिन्हा ने अपने ट्वीट में लिखा था कि वह इस पूरे मामले पर कार्तिक आर्यन की चुप्पी का सम्मान करते हैं। अनुभव का कहना था, 'जब प्रड्यूसर्स किसी ऐक्‍टर को अपनी फिल्‍म से ड्रॉप करते हैं या ऐक्‍टर फिल्‍म छोड़ता है तो वो इस पर बात नहीं करते हैं। अमूमन यही होता है। मुझे पक्‍के तौर पर यह लगता है कि कार्तिक आर्यन के ख‍िलाफ कैम्‍पेन चलाया जा रहा है और यह अन्‍याय है। मैं उसकी चुप्‍पी का सम्‍मान करता हूं।'

गौरतलब है कि बीते साल 2020 में सुशांत सिंह राजपूत के निधन के बाद बॉलीवुड में नेपोटिज्म और आउटसाइडर के मामलें ने तूल पकड़ी थी। उस समय आई खबरों के मुताबिक सुशांत सिंह को उनके आउटसाइडर होने की वजह से फिल्म इंडस्ट्री में उनके खिलाफ कैम्पेन चलाया गया था। खबरें तो यहां तक थी कि सुशांत फिल्म इंडस्ट्री में फैले नेपोटिज्म का शिकार कई बार हुए। बॉलीवुड में उनके आउटसाइडर होने की वजह उन्हें दरकिनार कर दिया गया था। जिसके चलते वह अकेलेपन का शिकार हो गए थे।