अशोक गहलोत और पायलट के विवाद को सुलझाने की कांग्रेस ने इस बड़े नेता को दी है जिम्मेदारी

राजस्थान में अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच पिछले एक साल से तनातनी चल रही है, जिससे कांग्रेस पार्टी की मुश्किलें बढ़ी हुई हैं. मध्यप्रदेश गंवाने के बाद अब कांग्रेस राजस्थान को गंवाना नही चाहती है. ऐसे में हाईकमान पायलट और गहलोत के बीच सुलह करवाने के लिए एक के बाद एक बड़ा कदम उठा रही है.

जानकारी के लिए बता दें अब कांग्रेस हाईकमान ने पायलट और गहलोत के बीच की दूरियों को ख़त्म करने की जिम्मेदारी मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ को सौंपी है. कहा जाता है कि अशोक गहलोत और कमलनाथ के रिश्ते काफ़ी अच्छे हैं. वहीं कमलनाथ की अब अस्पताल से भी छुट्टी हो गयी है.

कहा जा रहा है कि राजस्थान में पार्टी के अंदर चल रहे विवाद को सुलझाने के लिए कमलनाथ जल्द ही जयपुर जा सकते हैं. इससे पहले कांग्रेस ने ये ज़िम्मेदारी अहमद पटेल को दे रखी थी लेकिन उनके निधन के बाद ये काम कमलनाथ को सौंपा गया है क्योंकि वो गांधी परिवार के भी काफ़ी करीबी हैं.

ग़ौरतलब है कि पायलट और गहलोत के बीच विवाद बढ़ता ही जा रहा है. वहीं पार्टी के कुछ बड़े नेता पायलट के पक्ष में खड़े होते दिख रहे हैं. ऐसे में पार्टी के सामने कई बड़ी चुनौती हैं. राहुल बिग्रेड के नेताओं का पार्टी से मोह भंग होता जा रहा है और एक एक करके सब खिसक रहे हैं. अब अगर देखा जाए तो बड़े चेहरों में पायलट ही बचे हैं, वो भी पार्टी से अलग हो जाते हैं तो कांग्रेस को बड़ा झटका लग सकता है, इसी वजह से आलाकमान ये विवाद सुलझाने में लगी हुई है.