राजस्थान में सियासी संग्राम के बीच गहलोत सरकार के मंत्री ने कह दी बड़ी बात, जानिए

राजस्थान में पिछले काफ़ी समय से चल रही आंतरिक कलह थमने का नाम नही ले रही है. पायलट और गहलोत गुट के बीच की दूरियाँ हाईकमान भी नही कर पा रही है. वहीं बसपा छोड़कर कांग्रेस में आए विधायकों ने भी निर्दलीय विधायकों के साथ मंत्री पद के लिए मांग शुरू कर दी है. ऐसे में गहलोत के सामने कई बड़ी चुनौती हैं.

जानकारी के लिए बता दें राजस्थान में चल रहे सियासी संग्राम के बीच अब दो मंत्री भी कूद गए हैं और उन्होंने बड़ा बयान दिया है. गहलोत सरकार के दिग्गज मंत्रियों में से एक शांति धारीवाल ने पार्टी में चल रही गुटबाज़ी के बीच बड़ा बयान देकर सभी को चौंका दिया है.

गहलोत सरकार में मंत्री धारीवाल ने ये बात खुद स्वीकार की है कि कांग्रेस में फूट थी और रहेगी. इतना ही नही उनके इस बयान के बाद दूसरे मंत्री अशोक चांदना ने भी मुहर लगा दी है. राजस्थान में अब मंत्री खुलकर गुटबाज़ी और पार्टी की फूट को क़बूल कर रहे हैं और आगे की सुध को लेकर संकेत भी दे रहे हैं.

ग़ौरतलब है कि गहलोत सरकार अब असंतुष्ट धड़ को पूरी तरह दरकिनार करते हुए आगे बढ़ रही है. बताया जा रहा है कि अशोक गहलोत का ऑपरेशन क्वॉरंटीन इसी दिशा में बढ़ता हुआ कदम माना जा रहा है. वहीं राजस्थान की कांग्रेस सरकार में दूसरे नंबर के मंत्री माने जाने वाले धारीवाल ने ये कहकर साफ़ कर दिया है कि कांग्रेस में आगे फूट बनी रहेगी. ऐसे धारीवाल ने साफ़ संदेश दिया है कि पायलट को या तो सरकार के कंधे से कंधा मिलाकर काम करने की ज़रूरत है नही तो अपनी ढपली अपना राग बजाते रहें.