भारतीय जनता पार्टी के विधायक का हुआ निधन, पार्टी में दौड़ी शोक की लहर

कोरोना के इस दूसरी लहर ने बहुत ही अधिक संख्या में लोगों को मौत के घाट उतार दिया है. न जाने कितने बच्चे अनाथ हो गये हैं, और बहुत अधिक हँसता खेलता हुआ परिवार बिखर गया है. कितने लोगों को घर से बेघर कर दिया है. कोरोना की दूसरी लहर में मौत का सिलसिला थमने का नाम ही नहीं ले रहा है. बता दें कि भारतीय जनता पार्टी के हिमाचल प्रदेश की जुब्बत कोटखाई सीट के विधायक नरिंदर बरागटा का आज यानि शनिवार को सुबह में निधन हो गया है.

नरिंदर बरागटा की मृत्यु 69 वर्ष की आयु में हुई है. अभी कुछ ही दिन पहले ही वो कोरोना से स्वस्थ होकर घर आय गये थे. कोरोना संक्रमण से ठीक होने के बाद नरिंदर बरागटा पोस्ट कोविड से कॉम्प्लिकेशन जूझ रहे थे. जिसके बाद उन्हें चंडीगढ़ के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था. उसी अस्पताल में उनकी मृत्यु हो गई. उनके पुत्र चेतन सिंह बरागटा ने फेसबुक पर पोस्ट के माध्यम से इस बात की जानकारी दी है.

उनके पुत्र चेतन सिंह ने बताया कि उनके पिता लम्बे समय से बीमार थे और अब उनकी मृत्यु हो गई है आगे उन्होंने कोरोना संक्रमण के कारण भीड़ इकट्ठा न करने की अपील भी की है. बता दें कि नरिंदर सिंह बरागटा हिमाचल सरकार के मुख्य लोगों में से एक थे. कई बार पहले की सरकारों में मंत्री भी रह चुके हैं. नरिंदर सिंह बरागटा 1998 में पहली बार शिमला सीट से विधायक भी चुने गये थे. पहली बार ही विधायक बनने के बाद उनके अच्छे व्यक्तित्व के कारण उन्हें मंत्री भी बनाया गया था.