बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो मायावती को लगा तगड़ा झटका, जिसके बाद वो करने लगीं एक के बाद एक ट्वीट

बीते मंगलवार को बहुजन समाज पार्टी के कुछ विधयाकों की समाजवादी पार्टी के शीर्ष नेताओं से गम्भीर बातचीत हुई है. खास बात यह है कि मुलाकात करने वालों में 9 ऐसे विधायक हैं जिन्हें बसपा ने पहले ही निष्कासित कर रखा है. बता दें कि बसपा सुप्रीमो के द्वारा निष्कासित किये गए विधायकों का अखिलेश यादव से मिलना पसंद नहीं आया है. इसी वहज से वो बौखलाई हुई हैं और अपनी बौखलाहट एक के बाद एक ट्वीट करके निकाल रहीं हैं.

बता दें कि बसपा सुप्रीमो मायावती समाजवादी पार्टी पर इस समय जमकर निशाना साध रही हैं. सपा पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि सपा का चाल, चरित्र और चेहरा दलित विरोधी रहा है. उन्होंने कहा कि अभी जिन विधयाकों के समाजवादी पार्टी से मुलाकात की बात हो रही है. उन्हें पहले ही निष्कासित किया जा चूका है. सुप्रीमो मायावती ने अपने ट्वीट में स्पष्ट तौर पर लिखा कि घृणित जोड़तोड़, द्वेष व जातिवाद आदि की संकीर्ण राजनीति में सपा माहिर है.

उन्होंने आगे कहा कि समाजवादी पार्टी द्वारा मीडिया के सहारे यह प्रचारित है कि बसपा के कुछ विधायक टूट कर सपा में जा रहें हैं. यह घोर छलावा है. जबकि उन्हें काफी पहले ही सपा व एक उद्योगपति से मिलीभगत के कारण राज्यसभा के चुनाव में एक दलित के पुत्र को हराने के आरोप में बसपा से निलंबित किया जा चूका है. आपको बता दें कि बसपा के 9 बागी विधायक पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से विशेष तौर पर मुलाकात किये थे.