मोदी सरकार के एक्शन का दिखने लगा असर, नीरव, मेहुल चोकसी और विजय माल्या की इतने हजार करोड़ की संपति बैंकों को ट्रांसफर

भारत की बैंकों के हज़ारों करोड़ रुपए लेकर भागे नीरव मोदी और विजय माल्या की मुश्किलें कम होने का नाम नही ले रही हैं. मोदी सरकार की तरफ़ से भगोड़े नीरव और माल्या को एक के बाद एक बड़ा झटका दिया जा रहा है. केंद्र सरकार के सख़्त रवैए के बाद अब तक इन दोनों की हज़ारों करोड़ रुपए की संपत्ति ज़ब्त की जा चुकी है.

जानकारी के लिए बता दें भारत में बैंकिंग घोटालों के मामले पर सरकार के एक्शन का असर साफ़ देखने को मिल रहा है. भारत सरकार ने नीरव मोदी, मेहुल चोकसी और विजय माल्या पर कड़ा शिकंजा कसा है और उसका असर भी दिख रहा है.

दरअसल सरकारी बैंकों का पैसा लेकर विदेश भागे इन लोगों की संपत्ति को ज़ब्त करके सरकार ने बैंकों को पैसा देने शुरू कर दिया है. बताया जा रहा है कि सरकारी बैंकों को अब तक क़रीब 9371 करोड़ रुपए की संपत्ति ट्रांसफ़र कर दी गयी है. ईडी ने खुद इस बात की जानकारी दी है.

ग़ौरतलब है कि ईडी ने बताया है कि भगोड़े आरोपी नीरव मोदी, विजय माल्या और मेहुल चोकसी की 9371 करोड़ रुपए की संपत्ति बैंकों को दे दी गयी है ताकि धोखाधड़ी से हुए नुक़सान की भरपाई की जा सके.

वहीं ED ने बताया है कि विजय माल्या और PNB बैंक धोखाधड़ी मामले में बैंकों की 40 फ़ीसदी राशि पीएमएलए के तहत ज़ब्त किए गए शेयरों की बिक्री के ज़रिए की गयी है.