कोरोना संक्रमण से हुई मृत्यु पर मुआवजे को लेकर केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से कही ये बड़ी बात

देश में कोरोना का कहर बहुत ही बुरी तरह से आतंक मचाये हुए था. बीते दिनों कोरोना संक्रमण के मरीजों की संख्या चार लाख के पार हो जा रही थी. इतना ही नहीं कोरोना की दूसरी लहर में कोरोना के संक्रमण के कारण मृतकों की संख्या भी बहुत अधिक देखी गई है. फिलहाल धीरे – धीरे स्थिति में सुधार दिखायी दे रहा है. आपको बता दें कि कोरोना संक्रमण थमने के बाद कई मुद्दे सामने आ रहें हैं.

बता दें कि केंद्र सरकार ने कोरोना संक्रमण से जिन लोगों की मृत्यु हो गई है. उनके परिजनों को चार – चार लाख रूपए मुआवजा देने से एक बार फिर मना कर दिया है. इसी के साथ ही केंद्र सरकार ने अपनी बात रखते हुए कहा है कि पैसे की कमी नहीं है लेकिन फिर भी हम मुवाजा नहीं दे सकते हैं. केन्द्र सरकार ने अपनी बात को स्पष्ट करते हुए कहा है कि यहाँ मुद्दा पैसे का नहीं है बल्कि सरकार के खजाने और बाकि सभी संसाधनों के तर्कसंगत और विवेकपूर्ण तरीके से उपयोग करने का है.

वहीं केंद्र सरकार ने इससे पहले सुप्रीम कोर्ट में दाखिल हलफनामा पर कहा था कि अगर सबको चार – चार लाख रूपए दिए गये तो फंड में कमी हो जाएगी. वहीं अब केंद्र सरकार कुछ और ही कह रहा है. केन्द्र ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि नेशनल डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट के मुताबिक अभी ऐसी किसी भी प्रकार की कोई गाइडलाइन या योजना नहीं आई है. जिसके अनुसार कोरोना संक्रमण से जिन लोगों की मृत्यु हुई है उनके परिजनों को मुआवजा दिया जाये.