राजस्थान में सियासी संग्राम के बीच निर्दलीय विधायकों का पायलट को झटका, कहा सरकार अस्थिर करने की कोशिश की तो…

राजस्थान के पिछले काफ़ी समय से पायलट और गहलोत के बीच चल रहा सियासी संग्राम थमने का नाम नही ले रहा है. हाईकमान भी पायलट और गहलोत के बीच चल रहे मतभेदों को ख़त्म करना चाहती है और सुलह करवाना चाहती है लेकिन ऐसा हो नही पा रहा है. बताया जा रहा है कि पायलट गुट मंत्रीमंडल के विस्तार को लेकर नाराज़ है.

Delhi Police Crime Branch. (File Photo: IANS)

जानकारी के लिए बता दें गहलोत से नाराज़ चल रहे पायलट को एक बार फिर निर्दलीय विधायकों ने बड़ा झटका दिया है. जी हाँ पायलट गुट की ओर से CM मुख्यमंत्री पर ज़ुबानी हमला बोला गया तो गहलोत गुट ने भी पलटवार किया है. बताया जा रहा है कि गहलोत गुट की ओर से निर्दलीय विधायकों ने मोर्चा संभाल लिया है. उन्होंने पायलट पर हमला बोला है.

दरअसल अभी हाल ही में 13 में से 12 निर्दलीय विधायकों की बैठक हुई. एक विधायक जयपुर से बाहर न होने के चलते बैठक में शामिल नही हुए लेकिन उनका समर्थन भी गहलोत को है. विधायकों ने बैठक के बाद एक स्वर में कहा कि हम मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के साथ हैं. उन्होंने कहा मंत्रिमंडल का पुनर्गठन करना और मंत्री बनाना मुख्यमंत्री का विशेषाधिकार है.

ग़ौरतलब है कि निर्दलीय विधायकों ने सचिन पायलट को दो टूक जवाब देते हुए कहा कि सभी निर्णयों के लिए मुख्यमंत्री गहलोत अधिकृत है. गहलोत सरकार को समर्थन दे रहे निर्दलीय विधायकों ने कहा कि सरकार को अस्थिर करने का सवाल काल्पनिक है. अगर कोई ऐसी कोशिश करेगा तो पहले की तरह मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा.