राजस्थान बीजेपी में वसुंधरा राजे को लेकर फिर शुरू हुई हलचल, सतीश पूनिया बोले ‘पार्टी से बड़ा कोई नेता नहीं’

राजस्थान की सियासत में बीते कुछ समय से हलचल मची हुई है. जहाँ एक तरफ राजस्थान कांग्रेस में कलह खत्म नहीं हो रही है. वही दूसरी तरफ अब राजस्थान बीजेपी में भी सियासी भूचाल देखने को मिल रहा है. जानकारी के लिए बता दें कि राजस्थान में 2 साल के बाद चुनाव होने है.

लेकिन पिछले कुछ समय से राजस्थान की राजनीति में हलचल देखने को मिल रही है. जानकारी के लिए बता दें कि एक बार फिर से राजस्थान बीजेपी में हलचल शुरू हो गयी है. हालाँकि राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की तरफ से अभी तक किसी भी तरीके की कई प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है लेकिन राजे समर्थकों का कहना है कि बीजेपी ही वसुंधरा और वसुंधरा ही बीजेपी है. बता दें कि पूर्व विधायक प्रहलाद गुंजल के बाद पूर्व मंत्री भवानी सिंह राजावत ने प्रेस कांफ्रेस के दौरान कहा कि “जिस तरह से देश में बीजेपी के लिए प्रधानमंत्री मोदी हैं उसी तरह से राजस्थान में BJP के लिए वसुंधरा राजे हैं. राजस्थान में वसुंधरा राजे के अलावा कोई चेहरा नहीं चलेगा. पूरी पार्टी वसुंधरा राजे के दम पर सत्ता में आयी थी अगर वसुंधरा नहीं होंगी तो बीजेपी सत्ता में नहीं आएगी और मौजूदा नेतृत्व में प्रदेश में किसी नेता में इतना दम नहीं है”.

इस पर अब प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा कि “अनुशासनहीनता के बारे में केंद्रीय नेतृत्व को बताया जाएगा कि BJP में मुख्यमंत्री पद पार्लियामेंट्री बोर्ड तय करता है, घर में बैठे नेता तय नहीं करते हैं यह संगठन आधारित पार्टी है और यहां हर कार्यकर्ता बराबर की भूमिका में हैं.” जाहिर है कि राजस्थान में चुनाव होने में अभी काफी समय है लेकिन अभी से ही सियासी हलचल साफ़ तौर पर देखने को मिल रही है.