किसान आंदोलन में भड़क सकती है हिंसा, खुफिया एजेंसी ने जारी किया सावधानी

किसान आंदोलन फिर से तेज होता हुआ दिखयी दे रहा है. विभिन्न प्रयासों के बाद भी ये आंदोलन थमने का नाम नहीं ले रहा है. वहीं एक ओर जब कुछ किसान संगठन कृषि कानूनों की प्रतियां जला रहें हैं वहीं दूसरी ओर देश में गेहूं की रिकार्ड सरकारी खरीद हो रही है. इतना सबकुछ ठीक से चलने के बाद भी किसान आन्दोलन को खत्म नहीं करना चाहते हैं.

आपको बता दें कि खुफिया एजेंसियों ने शुक्रवार को राजधानी दिल्ली के पुलिस और दूसरी एजेंसियों को अलर्ट किया है कि पाकिस्तानी खुफिया एजंसी आइएसआई के संकेत पर किसान आंदोलन में हिंसा भड़क सकती है और बहुत अधिक तोड़- फोड़ भी हो सकती है. आज यानि 26 जून को किसान प्रदर्शनकारी पुरे देश भर में केन्द्र सरकार के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन करेंगे.

बता दें कि आधिकारिक सूत्रों के अनुसार खुफिया एजेंसीयों ने दिल्ली पुलिस और सेंट्रल इंडस्ट्रियल सिक्योरिटी फोर्स को सावधान किया गया है. खुफिया एजेंसी ने एक पत्र के माध्यम से दिल्ली पुलिस को सावधान किया है. किसान आन्दोलन को ध्यान में रखते हुए राजधानी दिल्ली में सावधानी बरती गई है. मेट्रो स्टेशन की सुरक्षा को बढ़ा दिया गया है. ऐसा संकेत मिला है कि प्रदर्शनकारी मेट्रो स्टेशन पर हमला कर सकते हैं. इसी वजह से राजधानी दिल्ली के तीन मेट्रो स्टेशन को बंद कर दिए गये हैं. इसी के साथ ही मेट्रो स्टेशन विश्वविद्यालय, सिविल लाइंस और विधानसभा स्टेशन बंद कर दिया गया है. इस स्टेशनों पर ट्रेन नहीं रुकेगी.