यूपी में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले सैफई सपा को बड़ा झटका, धर्मेंद्र यादव की पहली पत्नी ने..

यूपी में होने वाले आगामी विधानसभा चुनावों का विगुल बज चुका है. भाजपा सहित सभी दलों ने चुनाव को लेकर कमर कस ली है और तैयारियों में जुट गए हैं. यूपी में साल 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले सपा को बड़ा झटका लगा है.

जानकारी के लिए बता दें चुनाव से पहले भाजपा ने मुलायम सिंह के गढ़ और घर में बड़ी सेंध लगाई है. पूर्व सांसद धर्मेंद्र यादव की पहली पत्नी मोनिका यादव ने ज़िला पंचायत अध्यक्ष के पद पर सपा का दामन छोड़ भाजपा से समर्थन हासिल कर लिया है.

दरअसल सैफ़ई परिवार की बहू होने के चलते बीजेपी से समर्थन मिलने की वजह से सपा को बड़ा झटका लगा है. इतना ही नही मोनिका यादव सपा के पूर्व मंत्री की बेटी भी हैं. भाजपा से समर्थन मिलने के बाद अब उनको लेकर चर्चाएँ तेज हैं. अब सपा प्रत्याशी सुबोध यादव और भाजपा समर्थित मोनिका यादव के बीच मुक़ाबला होगा.

ग़ौरतलब है कि मोनिका यादव ने सपा से इस्तीफ़ा दे दिया है. वहीं ज़िलाध्यक्ष रूपेश गुप्ता और सांसद मुकेश राजपूत की मौजूदगी में ज़िलाध्यक्ष ने अपना लिखित समर्थन पत्र सौंपा है. रूपेश गुप्ता ने बताया है कि प्रदेश नेतृत्व से विचार विमर्श के बाद ही मोनिका को समर्थन दिया गया है. उन्होंने कहा है कि पार्टी हर क़ीमत पर जीत हासिल करेगी और उनका लक्ष्य भी यही है भाजपा जीते और सपा हारे. मोनिका ने भी कहा है कि वह निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में भाजपा से समर्थित हुई हैं. उन्होंने कहा है कि सपा से अब उनका कोई लेना देना नही है.