यात्रीगण कृपया ध्यान दें! अब रेल से सफ़र करना होगा और भी आसान, जानिए कैसे

देश में कोरोना की दूसरी लहर के कारण बढ़ते मामलों की वजह से लोगो को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा. जिसका असर भारतीय रेलवे पर भी देखने को मिला है. जानकारी के लिए बता दें कि कोरोना की दूसरी लहर के खतरे के चलते रेलवे ने कई रूट की ट्रेनों को भी कैंसिल कर दिया था.

जिसके बाद अब ट्रेन से सफ़र करने वालों के लिए एक बड़ी खुशखबरी सामने आई है. जानकारी के लिए बता दें कि भारतीय रेलवे यात्रियों के लिए 660 ट्रेनें और चलाने का फैसला किया है. बता दें कि रेलवे ने कहा है कि ट्रेनों की संख्या को मांग के अनुसार धीरे-धीरे बढ़ाया जा रहा है. इतना ही नहीं रेलवे ने जोनल रेलवे से स्थानीय परिस्थितियों, टिकटों की मांग और क्षेत्र में कोविड की स्थिति को ध्यान में रखते हुए ट्रेनों को चरणबद्ध तरीके से बहाल करने की आदेश दिया है और रेलवे ने ये फैसला इसलिए लिया है ताकि यात्रियों को दिक्कतों का सामना न करना पड़े.

बता दें कि 1 जून से 18 जून के बीच जोनल रेलवे को 660 अतिरिक्त मेल/एक्सप्रेस ट्रेनों के संचालन की मंजूरी दी गई है. जिसमें सेंट्रल रेलवे ने 26 अतिरिक्त ट्रेनों, पूर्व मध्य रेलवे ने 18 ट्रेनों, ईस्टर्न रेलवे ने 68 ट्रेनों, नॉर्थ सेंट्रल रेलवे ने 16 ट्रेनों, नॉर्थ ईस्टर्न रेलवे ने 38 ट्रेनों, नॉर्थ ईस्ट फ्रंटियर रेलवे ने 28 ट्रेनों, नॉर्दर्न रेलवे ने 158   ट्रेनों, नॉर्थ वेस्टर्न रेलवे ने 34 ट्रेनों, साउथ सेंट्रल रेलवे ने 84 ट्रेनों, साउथ ईस्ट सेंट्रल रेलवे ने 16 ट्रेनों, साउथ ईस्टर्न रेलवे ने 60 ट्रेनों, साउदर्न रेलवे ने 70 ट्रेनों, वेस्ट सेंट्रल रेलवे ने 28 और वेस्टर्न रेलवे ने 16 अतिरिक्त ट्रेनों की अनुमति दी है. जिसमें 552 मेल और एक्सप्रेस ट्रेनें और 108 हॉलिडे स्पेशल ट्रेनें शामिल हैं.