चीन और पाकिस्तान दोनों देश मिल कर करने जा रहें हैं ये बड़ा काम, जानिए चीन के नए चाल के बारे में

अभी विश्व की चूलें हिला देने वाली महामारी कोरोना वायरस का प्रकोप पूर्ण रूप से थमा नहीं कि तब – तक चीन नई योजना बनाना शुरु कर दिया है. पूरी दुनिया में हर व्यक्ति के दिमाग में कोरोना वायरस की उत्त्पति चीन के वुहान शहर से ही निकलने का स्पष्ट संकेत यही है कि आज जो हम इस भयावह समय से गुजर रहें हैं इसके लिए पूर्ण रूप से चीन ही जिम्मेदार है. बता दें कि अब फिर चीन एक नया कार्य करने जा रहा है इस बार वो अकेले नहीं है इस बार का काम चीन और पाकिस्तान दोनों देश मिल कर करने जा रहें हैं.

आईये जान लेते हैं चीन और पाकिस्तान के द्वारा किये जा रहे नए कार्य के बारे में दरसल बात ये है कि चीन और पाकिस्तान दोनों देश मिलकर अपना स्वयं के मीडिया संगठन का निर्माण करने की योजना तैयार कर रहें हैं. दोनों देश जल्द से जल्द मिलकर अपना एक टेलीविजन चैनल भी लॉन्च कर सकते हैं. चीन और पाकिस्तान के इस प्रोजेक्ट पर नजर रखने वालों का कहना है कि दोनों देश कतर के अल – जजीरा या रूस के आरटी नेटवर्क की तर्ज पर एक मीडिया संगठन बनाने की संभावना तलाश रहें हैं.इस कार्य के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर के पत्रकारों को साथ में लाया जायेगा. इन पत्रकारों को चीन से फंड मिलेगा.

आइये जान लेते हैं इस प्रोजेक्ट के लक्ष्य के बारे में जानकारों ने भारतीय सुरक्षा एजेंसियों द्वारा प्राप्त आंतरिक दस्तावेजों का हवाला देते हुए यह जानकारी दी है कि चीन और पाकिस्तान को लगता है कि अल-जजीरा और आरटी के कद का एक मीडिया हाउस की जरूरत है ताकि अपने आवश्यकता के अनुसार ख़बरों को लोगों तक पहुंचाया जा सके. चीन का कहना है कि ऐसा संगठन पाकिस्तान में स्थापित किया जा सकता है. दोनों देशों के लक्ष्यों को पूर्ण करने के लिए चीन इस योजना के लिए आर्थिक मदद उपलब्ध कराएगा. आपको बता दें कि हिंदुस्तान टाइम्स की खबर के अनुसार इस योजना के लिए पाकिस्तान जमीन उपलब्ध कराएगा और चीन पर्याप्त धन उपलब्ध कराएगा. इन दोनों देशों के द्वारा किये जा रहे कार्यो के पीछे का मतलब यह है कि चीन की आंतरिक गतिशीलता को एक खुले मीडिया को रोकती है. लेकिन देश के पास वित्तीय ताकत हैं और वहीं पाकिस्तान का मन ऐसे मीडिया के लिए अनुकूल है.