सावधान : सरकारी कर्मचारी अगर ये कार्य नहीं किये तो रुक सकता है उनका वेतन, जानिए नए फरमान के बारे में

देशभर में कोरोना ने हाहाकर मचा के रख दिया है. कोरोना के कारण आज तमाम जिंदगियां तबाह हो गई हैं. पिछले दिनों तो पुरे देश में कोरोना के रोजाना के केस 4 लाख के पार आने लगे थे. अभी इस समय में कोरोना का कहर धीरे – धीरे ही सही लेकिन थम रहा है. कोरोना के इस घातक कहर को रोकने के लिए हमारे पास एकमात्र उपाय वैक्सीन का है. इसी वजह से सरकार वैक्सीनेशन पर अधिक जोर दे रही है.

आपको बता दें कि वैक्सीनेशन को रफ्तार देने के लिए फिरोजाबाद जिले में प्रशासन ने टीकाकरण नहीं कराने वाले सरकारी कर्मचारियों का बीते मई महीने का वेतन रोकने का आदेश दिया हैं. ऐसा आदेश आते ही अधिकारीयों में हाहाकार मचा हुआ दिखाई दे रहा है. जिला प्रशासन ने ऐसा कदम इसलिए उठाया है कि जल्द से जल्द कोरोना को मात देने वाला वैक्सीनेशन अधिकारी लगवालें और उसके बाद अपनी जिम्म्मेदारियों का सतर्कता पूर्वक निर्वहन कर सकें.

जानकारी के अनुसार इस बात पर अधिक जोर देने के लिए जिला कोषाधिकारी समेत सभी विभागाध्यक्ष को ये निर्देश दिया गया है. साथ ही उन्हें टीकाकरण की एक सूचि बनाकर सुनिश्चित करने को कहा गया है. जिलाधिकारी के इस मौखिक आदेश के बाद अधिकारीयों में उथल-पुथल का माहौल बना हुआ है. जो अधिकारी टीकाकरण करवा लिए है उनके लिए तो ठीक है लेकिन जो नहीं करवाएं हैं. वो वेतन रुकने की बात से डरे हुयें है और जल्द से जल्द टीकाकरण कराने के प्रयास में लगे हुए हैं.