पीएम मोदी के साथ बैठक के बाद फिर जगा महबूबा मुफ़्ती का पाकिस्तान प्रेम, बोली “लोग चाहते हैं भारत पाकिस्तान से बात करे”

कश्मीर मामलों पर पीएम मोदी के साथ बैठक के बाद भी महबूबा मुफ़्ती का पाकिस्तान प्रेम ख़त्म होने का नाम नहीं ले रहा. दरअसल बैठक के बाद महबूबा मुफ़्ती ने पाकिस्तान का राग अलापा था और उसके साथ बातचीत की वकालत की. जिसके बाद काफी बवाल भी हुआ. वही अब एक बार फिर से महबूबा ने कुछ ऐसा कह दिया है जिसकी वजह से फिर से सियासी हलचल तेज़ हो गयी है.

दरअसल महबूबा मुफ़्ती ने इंडिया टुडे टेलीविजन के कंसल्टिंग एडिटर राजदीप सरदेसाई के साथ एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में बात करते हुए कहा कि जम्मू-कश्मीर एक खुली जेल बन गया है. लोग सिर्फ मुंह खोलने की वजह से कैद में हैं. वे अपने घरों की चहारदीवारी के भीतर भी फुसफुसाते हैं, क्योंकि वे डरे हुए हैं. क्या अपने लोगों के साथ ऐसा किया जाता है? इतना ही नहीं महबूबा ने यहाँ तक कह दिया कि भारत में असहमति को अपराध बना दिया गया है.

इसके अलावा महबूबा मुफ़्ती ने कहा कि ”मैं यह साफ कर दूं कि मैं चुनाव की मांग करने के लिए दिल्ली नहीं आई थी. मैं केंद्र से जम्मू-कश्मीर में विश्वास निर्माण के उपाय करने के लिए यहां आई थी, ताकि पीड़ित कश्मीरियों के जीवन को बेहतर बनाया जा सके.”  इतना ही नहीं महबूबा ने अपने इंटरव्यू में भी पाकिस्तान का राग अलापते हुए कहा कि “लोग चाहते हैं कि भारत पाकिस्तान से बात करे. मैंने बैठक में पीएम मोदी से कहा कि आप चीन से बात कर रहे हैं, पाकिस्तान से भी बात करें.” जाहिर है कि महबूबा का हर वक्त पाकिस्तान के प्रति प्रेम दिखाई देता रहा है और इसी वजह से वो कई बार पाकिस्तान से बातचीत करने का राग भी अलापती रहती है.