अपनी पुरानी गलती सुधरने चले उद्धव ठाकरे, उठाया ये बड़ा कदम

उद्धव ठाकरे एक भारतीय राज नेता हैं. इसी के साथ ही वो हिन्दू राष्ट्रवादी शिवसेना के नेता भी है. महाराष्ट्र में इनकी अपनी एक पहचान है. उद्धव ठाकरे आज महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद पर कार्यरत हैं. बता दें कि इस समय महाराष्ट्र में राजनीति भी बहुत तेजी से की जा रही है. इसी वजह से महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे भी वहाँ के लोगो को लुभाने के बतौर प्रयास में लगे हुए हैं.

इन दिनों महाराष्ट्र में शिवसेना कई प्रकार के नए – नए नारे लगा रहा है. आईये हम उस नारे का जिक्र करते हैं. इस समय शिवसेना का नया नारा ये है – मुंबई हो या जलेबी फाफडा, उद्धव ठाकरे आपडा. बता दें कि ऐसे नारों का स्पष्ट अर्थ यही हुआ कि उद्धव ठाकरे वहाँ के लोगों को अपनी ओर आकर्षित करना चाहते हैं. चुकी बात ये है कि उद्धव ठाकरे इस बात से भली भांति अवगत हैं कि शिवसेना का मूल वोट बैंक सिर्फ मराठी लोग ही हैं. इसी के साथ ही यहाँ गुजरातियों की संख्या भी बहुत अधिक है और गुजराती काफी समृद्ध और सम्पन्न भी होते हैं. इसलिए शिवसेना ने गुजरातियों को लुभाने के लिए ये चाल चलना शुरू कर दिया है.

इतना ही नहीं एक और नारा देते हुए एक स्लोगन भी लांच किया गया है. आईये स्लोगन के बारे में जानते हैं- ‘मुंबई मा जलेबी फाफडा, उद्धव ठाकरे आपडा’ बता दें कि लोग इस दिए गये नारे को अपने – अपने नजरिये से देख रहें है. लेकिन उद्धव ठाकरे का ये दांव कितना कामगर सिद्ध होगा ये तो समय ही बतायेगा. फिलहाल बता दें कि शिवसेना जो कभी बहुत बड़ी क्षेत्रवादी हुआ करती थी वो अपना स्वरूप बदलने पर काम कर रही है. ये तो सोचने योग्य बात है.