नए आईटी नियमों का पालन न करने पर सरकार ने ट्विटर के लिए उठाया सख्त कदम

केन्द्र सरकार के कई बार चेतावनी देने के बाद भी इंटरनेट मीडिया के नए नियमों का पालन नहीं करने पर सरकार ने ट्विटर पर कार्यवाई शुरू कर दी है. बता दें कि सरकार ने इंटरनेट मीडिया के लिए नए नियम बनाये थे और इंटरनेट मीडिया नियम को लागू नहीं कर रही थी. इस वजह से सरकार को सख्त कदम उठाना पड़ रहा है. सरकार ने ट्विटर का इंटरमीडियरी यानि मध्यस्थ का दर्जा खत्म कर दिया है.

बता दें कि इससे पहले सरकार ने 5 जून को आखिरी चेतावनी दी थी. उसके बाद भी ट्विटर ने नियमों का पालन करके नहीं बताया तो स्पष्ट है कि कार्यवाई शुरू हो गई है. यानि अब कंटेंट को लेकर किसी भी प्रकार की शिकायत पर ट्विटर पर आपराधिक कार्यवाई की जा सकती है. ट्विटर के साथ सिग्नलों पर भी ऐसी ही कार्यवाई हो रही है. इंटरमीडियरी दर्जा खत्म होने के बाद ये दोनों प्लेटफार्म सामान्य मीडिया की श्रेणी में आ जायेंगे और तब विदेशी निवेश की सीमा आदि का बंधन भी शुरू होगा.

ऐसा करने से जाहिर सी बात है कि ट्विटर को भारत में संचालन में अब मुश्किलें होने वाली हैं. फरवरी में इलेक्ट्रॉनिक्स व आईटी मंत्रालय की तरफ से इंटरनेट मीडिया के लिए नए नियम जारी किये गये थे. इंटरनेट मीडिया प्लेटफार्म को इन नियमों के पालन के लिए तीन महीने का समय दिया था. जो गत 25 मई को समाप्त हो गया. आपको बता दें कि व्हाट्सएप्प, फेसबुक, गूगल व कू समेत कई कंपनियों ने नए नियमों का पालन शुरू कर दिया था लेकिन ट्विटर जिद पर अड़े हुआ था.