त्रिपुरा में बिप्लब सरकार से नाराज कई विधायक, सियासी संकट को निपटाने के लिए जेपी नड्डा…

राजस्थान और पंजाब समेत कई राज्यों में इस समय कांग्रेस के नेतृत्व वाली सरकार पर सियासी संकट गहरा रहा है. वहीं इसी बीच भाजपा को लेकर भी बुरी ख़बर आ रही है. जी हाँ त्रिपुरा में विप्लव देब की सरकार पर भी ख़तरा मंडरा रहा है. बीजेपी और आईपीएफटी के बीच दरार पड़ गयी है.

जानकारी के लिए बता दें त्रिपुरा में बीजेपी की सहयोगी पार्टी आईपीएफटी के कई नेताओं ने दिल्ली में आकर राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाक़ात की है और अपनी समस्याओं के बारे में अवगत कराया है.

दरअसल त्रिपुरा में 25 साल पुरानी लेफ़्ट की पुरानी सरकार को ख़त्म करके भाजपा ने आईपीएफटी के साथ गठबंधन करके अपनी सरकार बनाई थी. वहीं अब बीजेपी के कुछ विधायक CM विप्लब देब से नाराज़ चल रहे हैं. वहीं आईपीएफटी के भी कुछ विधायक नाराज़ चल रहे विधायकों को लेकर हाईकमान ने बड़ा कदम उठाया है.

ग़ौरतलब है कि त्रिपुरा में सरकार पर गहराते संकट के बीच जेपी नड्डा खुद त्रिपुरा जायेंगे और सबकुछ ठीक करने का काम करेंगे. नाराज़ विधायकों ने जेपी नड्डा को अवगत कराया है कि कई वजह से राज्य के लोग सरकार से खुश नही हैं. वहीं एक वजह ये भी है कि सरकारी कर्मचारियों को एक दशक से प्रमोशन नही मिला है. अब जेपी नड्डा त्रिपुरा पहुंचकर राज्य की ट्राइबल आबादी को खुश करने के लिए जरूर कुछ कदम उठा सकते हैं.