इन लोगों पर भड़के सीएम योगी, लगाया रासुका और जायेंगे जेल

जैसा कि हम सभी लोग पहले से इस खबर से परिचित हैं कि इस वक्त उत्तरप्रदेश में धर्मांतरण के मामले सामने आ चुके हैं. इन धर्मांतरण मामलों के सामने आने के बाद से इसके जड़ तक पहुंचने के लिए तेजी से छानबीन किया जा रहा था. छानबीन के इसी कड़ी को आगे बढ़ाते हुए आज यानि दिन सोमवार को उत्तर प्रदेश के एटीएस ने धर्म परिवर्तन मामले को लेकर बड़ा खुलासा किया है. आईये पहले एटीएस के द्वारा किये गये खुलासे के बारें में जान लेते हैं.

एटीएस के द्वारा किये गये जाँच में पता चला है कि उत्तर प्रदेश राज्य में बहुत अधिक संख्या में हिंदुओं को मुस्लिम बनाया जा रहा था. बता दें कि एटीएस टीम ने मौलाना जहांगीर और उमर गौतम को प्रदेश की राजधानी लखनऊ से गिरफ्तार किया है. ये दोनों ही मुसलमान गरीब और लाचार हिंदुओं को धन का लालच देकर अपने हिन्दू धर्म का परिवर्तन कर मुस्लिम धर्म अपनाने के लिए प्रोत्साहित करते थे. इसी के साथ ही ये भी पता चला है कि पकड़े गये ये दोनों ही आरोपी प्रदेश राजधानी लखनऊ स्थित बहुत ही बड़े मुस्लिम संस्थान से जुड़े हुए हैं. एटीएस के जाँच में सबसे बड़ी बात ये सामने आई है कि अभी तक इन लोगों ने कुल एक हजार से भी ज्यादा हिंदुओं का धर्म परिवर्तन करके मुस्लिम बना चुके हैं.

बता दें कि प्रदेश में धर्मांतरण मामले पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बहुत ही अधिक सख्त रुख अपनाये हुए आदेश दिए हैं कि धर्मांतरण का ये धंधा पूर्ण रूप से बंद करना ही होगा. नहीं तो घर कानून को सौंपना पड़ेगा. इसी के साथ ही योगी आदित्यनाथ ने पकड़े गये आरोपियों को रासुका के अनुसार कार्यवाही करने का सख्त आदेश दिया है. मुख्यमंत्री जी ने अपने स्पष्ट शब्दों में कहा है कि जो भी लोग धर्मांतरण के मामले से जुड़े हुए हैं उनके खिलाफ गैंगस्टर लगाये जाएँ और उन्हें एनएसए में निरुद्ध किया जाये. इसी के साथ ही उनका संपत्ति भी जब्त करने की कार्यवाई भी की जाये.