पंजाब कांग्रेस में नहीं हुई सुलह, सिद्धू ने पार्टी के इस बड़े ऑफर को ठुकराते हुए कह दी बड़ी बात

पंजाब में होने वाले आगामी विधानसभा चुनाव से पहले पार्टी में अंदर कलह थमने का नाम नही ले रही है. एक तरफ़ पार्टी हाईकमान सिद्धू और कैप्टन के बीच चल रहे मतभेद को ख़त्म करने की कोशिश कर रही है तो वहीं पार्टी के ही कई विधायक कैप्टन पर एक के बाद एक बड़े आरोप लगा रहे हैं.

जानकारी के लिए बता दें कांग्रेस ने सिद्धू और कैप्टन के बीच चल रही रार को ख़त्म करने के लिए एक कमेटी का गठन किया था. अब ये कमेटी भी दोनों के बीच सुलह करवाने में नाकामयाब दिखाई दे रही है. बताया जा रहा है कि कमेटी ने कैप्टन अमरिंदर सिंह की लीडरशिप रहते हुए सिद्धू को डिप्टी CM का ऑफ़र तक दिया लेकिन सिद्धू कैप्टन के साथ काम करने को तैयार नही.

सिद्धू ने कमेटी द्वारा दिए गये डिप्टी CM के ऑफ़र को भी ठुकरा दिया. कांग्रेस सूत्रों का कहना है कि सिद्धू ने मल्लिकार्जन खड़गे की लीडरशिप वाली पैनल को साफ़ कह दिया कि वह कैप्टन के साथ काम करने में सहज नही रहेंगे. वहीं उन्होंने पैनल से ये भी कहा कि अगर वो डिप्टी CM का पद स्वीकार भी कर लेते हैं तब भी सहज नही रहेंगे.

ग़ौरतलब है कि सिद्धू ने आरोप लगाते हुए कहा कि कैप्टन पहुंच से दूर रहते हैं. उन्होंने आगे दावे के साथ कहा है कि राज्य में कांग्रेस के विधायकों, पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं को नज़रंदाज़ किया जा रहा है. सिद्धू के मत से ये तो साफ़ हो गया है कि पंजाब में सुलह करना कांग्रेस के लिए आसान काम नही हैं.