पार्टी में संग्राम के बीच चिराग ने चला नया सियासी दांव, कही ये बात

बिहार में तेजी से बदलते राजनीतिक घटनाक्रम में दिवंगत राम विलास पासवान की पार्टी लोजपा टूट की कगार पर खड़ी है. वही दूसरी तरफ चिराग पासवान को लेकर एक बड़ा खुलासा हुआ है. दरअसल पिछले साल बिहार विधानसभा चुनाव और राम विलास पासवान के निधन के बाद से ही चिराग ने कई ऐसे चौकाने वाले फैसले लिए है. जिसके बाद से ही बिहार में सियासी हलचल काफी तेज़ हो गयी है. जिसके साथ ही उनकी पार्टी के कुछ सांसद भी उनके खिलाफ खड़े हो गए है.

बता दें कि चिराग पासवान ने अपने इंटरव्यू में कहा कि ‘मैंने विधानसभा चुनाव के दौरान जितने भी फैसले किए थे, उसकी पूरी जानकारी BJP के शीर्ष नेतृत्व को दी थी. मैंने BJP को ये भी स्पष्ट कर दिया था कि मैं सिर्फ JDU के खिलाफ कैंडिडेट उतारने जा रहा हूं. यहां तक कि BJP को मैंने ये भी साफ कर दिया था कि सिर्फ 6 सीटें ऐसी होंगी जहां मुझे BJP के खिलाफ कैंडिडेट उतारना होगा’

जिस पर अब बीजेपी ने सभी दावों को सिरे से ख़ारिज करते हुए कहा है कि ‘चिराग पासवान को इतने लंबे वक्त के बाद ये सारी बातें याद आई हैं? अगर वाकई ऐसा कुछ हुआ था तो चुनाव के बाद ही सारी बातें स्पष्ट क्यों नहीं कर दी गई? चिराग पासवान को तब ये बातें याद आ रही हैं जब उनके परिवार में खटपट चल रही है. जब उनकी पार्टी में नेतृत्व परिवर्तन हो गया है और वो राजनीति में हाशिए पर जा रहे हैं, तब सुर्खियों में बने रहने के लिए वो इस तरह की ओछी बातें कर रहे हैं. चिराग पासवान मैदान के पिटे हुए खिलाड़ी हैं’.जाहिर है कि एक तरफ LJP में आपसी घमासान मचा हुआ है. वही दूसरी तरफ चिराग की इस तरह से बयान बाजी कई सवाल उठा रही है. वही इस अब के बीच विपक्ष को भी आ’ग में घी डालने का मौका मिल गया है.