बड़ी खबर : एलओसी बॉर्डर पर बन रहा है कम्युनिटी बंकर, पाकिस्तानी गोलाबारी से बचाव के लिए बनाया गया सुरक्षा कवच

जम्मू-कश्मीर में आये दिन आतंकियों के हमले होते रहते हैं. इस वजह से वहां के रहने वाले स्थानीय लोगों के मन में हमेशा डर बना रहता है. कि पता नहीं कब आतंकियों द्वारा हमला कर दिया जाये. इसी समस्या का निदान करने के लिए जम्मू-कश्मीर के नियंत्रण रेखा और अंतरराष्ट्रीय सीमा के आस-पास के क्षेत्रों में रहने वाले लोगों के बचाव के लिए सामुदायिक बंकर का निर्माण किया जा रहा है.

आप को बता दें वहा के कई क्षेत्रों में बंकर बन करके पूरी तरह से तैयार हो गया है. वहीं कई क्षेत्रों में अभी बंकर निर्माण का कार्य चल रहा है. सबसे बड़ी खुशी की बात ये है कि इन बंकर्स पर पाकिस्तान के गोलाबारी का असर नहीं होगा. इसका सबसे अधिक फायदा वहाँ के रहने वाले स्थानीय लोगों के लिए होगा. वहां पर गाँव में रहने वाले लोग पूरी तरह से खुद को सुरक्षित महसूस करेंगें.

आईये जान लेते हैं कम्युनिटी बंकर की मजबूती के बारे में ऐसा माना जा रहा है कि एलओसी के नियंत्रण रेखा पर बनाये जा रहे बंकर बहुत अधिक मजबूत हैं. इसके निर्माण में लगे हुए कंक्रीट और अन्य दुसरे मेटेरियल को भेदने की शक्ति पाकिस्तान की बन्दूक से निकली गोलियों में नहीं है. मुदस्सर चौधरी ने बताया कि आरसीसी वाल्वस लोहे और स्लैब से बंकर का निर्माण किया गया है. उन्होंने स्पष्ट तौर पर कहा कि फायरिंग के समय इसके अंदर गोली नहीं घुस सकती है. बनाये जा रहे इस बंकर में एक साथ डेढ़ सौ लोग आश्रय ले सकते हैं.