गूगल, फेसबुक जैसी कंपनियों पर G-7 देशों ने लिया बड़ा फैसला, 15 फीसदी टैक्स लगाने के फैसले पर किया ऐतिहासिक करार

आज के दौर में सोशल साइट्स तमाम लोगो की ज़िन्दगी का एक अहम हिस्सा बन गयी है. फिर चाहे वो ट्विटर, फेसबुक, इंस्टाग्राम या फिर यू ट्यूब जैसी तमाम साइट्स हो. लोगो का आधा समय इन्ही साइट्स पर ही जाता है. हालाँकि कई बार देखने को मिला है जब इन साइट्स का गलत इस्तेमाल किया गया है और इसी वजह से सोशल साइट्स पर प्रतिबंद लगाये जाने की खबरे भी सामने आती रही है.

वही दूसरी तरफ अब इन सोशल मीडिया कंपनियों को एक बड़ा झटका लगने वाला है. जानकारी के लिए बता दें कि दुनिया के सबसे अमीर सात देशों यानी G-7 समूह ने गूगल, फेसबुक, एपल और अमेजन जैसी बड़ी अमेरिकी कंपनियों पर टैक्स बढ़ाने का फैसला किया है. इतना ही नहीं G-7 समूह ने इन कंपनियों पर 15 फीसदी तक टैक्स लगाने के लिए ऐतिहासिक वैश्विक करार पर हस्ताक्षर कर दिए हैं. पता हो कि G-7 देशो के समूह में  ब्रिटेन, अमेरिका, कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, इटली और जापान है.

इस दौरान ब्रिटेन के वित्त मंत्री ऋषि सुनक ने कहा, “मुझे इस बात की खुशी है कि कई सालों के विचार-विमर्श के बाद जी-7 के वित्त मंत्रियों ने आज वैश्विक कराधान प्रणाली में सुधार के लिए ऐतिहासिक करार किया है. इससे यह सुनिश्चित होगा कि सही कंपनियां सही स्थान पर सही कर का भुगतान करें.” बता दें कि इस करार पर जी7 की शिखर बैठक में मुहर लगेगी. वही शिखर सम्मेलन ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बॉरिस जॉनसन की अध्यक्षता में 11-13 जून तक कोर्नवाल में आयोजित किया जाएगा.