Jio ने देश में 5G नेटवर्क पेश करने की प्रक्रिया को किया तेज, जानें कब तक होगी सेवा

जियो 5G सेवा

जियो 5G सेवा

नई दिल्ली। रिलायंस इंडस्ट्रीज (Reliance Industries) ने अपनी वार्षिक रिपोर्ट में कहा कि जियो डिजिटल प्लेटफॉर्म (Jio Digitel Platform) और स्वदेशी तरीके से विकसित अगली पीढ़ी की 5जी सेवाएं (5G Services) पेश करने की प्रक्रिया को गति दे रही है। भारत के 'वैश्विक डिजिटल क्रांति' में अग्रणी भूमिका निभाने का जिक्र करते हुये यह कहा गया है। रिपोर्ट के अनुसार रिलायंस जियो ने अगले 30 करोड़ मोबाइल ब्रॉडबैंड सेवा उपयोगकर्ताओं (Mobile Broadband Service Users), जियो फाइबर (Jio Fiber) का इस्तेमाल करने वाले पांच करोड़ घरों और पांच करोड़ सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम व्यापार इकाइयों के लिए पर्याप्त नेटवर्क क्षमता का निर्माण किया है।

5जी निदान का किया सफलतापूर्वक परीक्षण

कंपनी के चैयरमैन एवं प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) ने रिपोर्ट में कहा कि क्वालकॉम (Qualcomm) और जियो ने जियो भारत में 5जी निदान का सफलतापूर्वक परीक्षण किया है। जियो 5जी निदान पर एक जीबीपीएस स्पीड का महत्वपूर्ण मुकाम हासिल किया गया है। रिपोर्ट के अनुसार जियो और क्वालकॉम ने जियो प्लेटफॉर्म्स की पूर्ण स्वामित्व वाली अनुषंगी रेडिसिस कॉरपोरेशन के साथ मिलकर एक मुक्त और अंतर-संचालित इंटरफेस-अनुकूलन आधारित 5जी निदान का विकास किया है जो वर्चुअलाइज्ड आरएएन (वीआरएएन) से लैस है। यह भारत में स्वदेशी 5जी नेटवर्क ढांचे और सेवाओं के विकास और उसे पेश करने की प्रक्रिया को तेज कर देगा। 

मुकेश अंबानी बोले- कंपनी मजबूत स्थिति में

दुनियाभर के प्रमुख निवेशकों से रिकार्ड पूंजी जुटाने के बाद रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी ने कहा है कि कंपनी अब वृद्धि के रास्ते पर बढ़ने के लिये मजबूत स्थिति में है। कंपनी के तीन व्यवसायों --दूरसंचार, खुदरा कारोबार और तेल से लेकर रसायन कारोबार-- को वृद्धि समर्थन देने के लिये उसके बही खाते में पर्याप्त नकदी उपलब्ध है।