LJP में कलह के बीच 5 जुलाई को ‘आशीर्वाद यात्रा’ निकालेंगे चिराग पासवान, साथ ही कही ये बात

बिहार में तेजी से बदलते राजनीतिक घटनाक्रम में दिवंगत राम विलास पासवान की पार्टी लोजपा टूट की कगार पर खड़ी है. बता दें कि जहाँ एक तरफ चिराग पासवान और पशुपति पारस आमने सामने आ गए है वही दूसरी तरफ अब ये लड़ाई आयोग तक जा पहुंची है.

इसी बीच चिराग पासवान को लेकर एक बड़ी खबर सामने आ रही है. जानकारी के लिए बता दें कि रविवार को सांसद चिराग पासवान ने अपने दिल्ली स्थित आवास पर पार्टी की बैठक बुलाई. जहाँ पर चिराग पासवान ने बैठक में मौजूद सभी नेताओं को शपथ दिलवाई. जिसकी जानकारी चिराग पासवान ने बैठक खत्म होने के बाद बाहर आकर मीडिया को भी दी.

इतना ही नहीं इस दौरान चिराग ने कहा कि “5 जुलाई को मेरे पिता जी का जन्मदिन है. मेरे पिता और चाचा अब मेरे साथ नहीं हैं. इसलिए हमने 5 जुलाई से हाजीपुर से ‘आशीर्वाद यात्रा’ निकालने का फैसला किया है. बिहार के सभी जिलों से गुजरेगी यात्रा, हमें लोगों से और प्यार और आशीर्वाद की जरूरत.” इसके अलावा चिराग ने ये भी जानकारी देते हुए बताया कि बैठक में रामविलास पासवान को भारत रत्न देने और बिहार में उनकी एक बड़ी प्रतिमा स्थापित करने की मांग की गई है.

जाहिर है कि एक तरफ चाचा भतीजे में पार्टी को लेकर सियासी घमासान मचा हुआ है. वही दुसर ताफ चिराग पासवान की तरफ से पारस को ये बड़ा झटका दिया गया है. साथ ही पता हो कि अब ये लड़ाई घर से बाहर निकल कर सड़क तक आ गयी है जिक्से बाद ये देखना होगा कि चुनाव आयोग इस विवाद को किस तरीके से सुलझाता है और पार्टी का बादशाह कौन बनता है.