ट्विटर ने लिया एक और बड़ा एक्शन, RSS के सरसंघचालक मोहन भागवत के अकाउंट से हटाया ब्लू टिक

सोशल मीडिया कंपनी और सरकार के बीच विवाद कम होने की जगह बढ़ता ही जा रहा है. जिसमें सबसे ज्यादा विवाद ट्विटर के साथ बढ़ रहा है. दरअसल सरकार और ट्विटर के बीच नए आईटी नियमों को लेकर टकराव बना हुआ है और ये टकराव इस कदर बढ़ गया कि ट्विटर इन नियमों को लेकर कोर्ट तक पहुँच गया जिसके बाद अब इस मामले ने एक और नया राजनीतिक रूप ले लिया है.

जानकारी के लिए बता दें कि जहाँ एक तरफ ट्विटर ने आज उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू के निजी अकाउंट से ब्लू टिक हटा कर उसे अनवेरिफाइड कर दिया था. हालाँकि इस के बाद काफी सोशल मीडिया पर बवाल मचा और उसके कुछ समय बाद ट्विटर ने उपराष्ट्रपति के निजी अकाउंट पर ब्लू टिक बहाल कर दिया और सफाई जारी करते हुए अकाउंट को अनवेरिफाइड करने का कारण बताया. जिसके बाद अब ट्विटर ने एक और बड़ा एक्शन लिया है.

जानकारी के लिए बता दें कि ट्विटर ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के सरसंघचालक मोहन भागवत के अकाउंट से भी ब्लू टिक हटा दिया है.इतना ही नहीं ट्विटर ने RSS के कई बड़े नेताओं के अकाउंट से भी ब्लू टिक हटाया गया है. जिसके बाद ही अब ट्विटर और सरकार के बीच तनाव बढ़ गया है. बता दें कि अकाउंट पर से ब्लू टिक हटाये जाने वालों में सरसंघचालक मोहन भागवत, कृष्ण गोपाल, सुरेश सोनी, सुरेश जोशी और अरुण कुमार शामिल हैं. अब देखना ये है कि ट्विटर के इस कदम पर सरकार क्या एक्शन लेती है और अब ये विवाद कौनसा नया मोड़ लेता है.