SSR Death Anniversary: महज 34 साल की उम्र मे पहुंचे थे आसमान की बुलंदियों तक, जाने कैसी थी एक्टर की कॉलेज लाइफ

SSR Death Anniversary: महज 34 साल की उम्र मे पहुंचे थे आसमान की बुलंदियों तक, जाने कैसी थी एक्टर की कॉलेज लाइफ

SSR Death Anniversary: महज 34 साल की उम्र मे पहुंचे थे आसमान की बुलंदियों तक, जाने कैसी थी एक्टर की कॉलेज लाइफ

पिछले साल बॉलीवुड ने अपने कई दिग्गजो को खो दिया। इनमें कई ऐसे सितारे थे जिन्होंने हंसते खेलते इस दुनियां को अलविदा कह दिया। इन सितारों के चले जाने से न सिर्फ उनके परिवार वालें बल्कि उनके चाहने वालों को भी बड़ा झटका लगा। ऐसे ही एक नाम था सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) का जो 14 जून साल 2020 को इस दुनिया को छोड़कर चले गए। सुशांत सिंह ने आत्महत्या कर ली लोग इस बात को मानने के लिए राज़ी नहीं हुए। उनके चाहने वालों को कभी यह नहीं लगा कि वह ऐसा काम कर सकते हैं। निधन के बाद पता चला कि वह डिप्रेशन जैसी बीमारी से जूझ रहें थे। किसी ने उनकी मृत्यू को हत्या बताया। इसके पीछे की जांच अभी तक चल रही है। उनके निधन की गुत्थी कब तक सुलझेगी इस बारें में कुछ कहा नहीं जा सकता। इस समय बस एक ही बात सच है वो यह कि लोगो से उनका प्यारा सितारा बहुत दूर चला गया है। महज 34 साल की उम्र में सुशांत ने वो सब हासिल किया जो बाकियों को हासिल करते करते कई दशक लग जाते हैं।


सुशांत पटना की एक मिडिल क्लास फैमिली से आये थे। जहां से आने वालों का सिर्फ एक ही लक्ष्य होता है पढ़ लिख कर कुछ बन जाना। सुशांत ने अपनी पढ़ाई पटना और दिल्ली के मिले जुले माहोल में की। उन्होंने पटना के सेंट कैरन हाई स्कूल और उसके बाद नई दिल्ली के हंसराज मॉडल स्कूल से 12वीं तक पढ़ाई की थी। सुशांत ने ऑल इंडिया इंजीनियरिंग एंट्रेस एग्जामिनेशन (AIEEE) में 7वीं रैंक हासिल की थी। जिसके बाद सुशांत ने दिल्ली कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग (DCE) जो कि अब दिल्ली टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी मैकिनकल इंजीनियरिंग कोर्स में एडमिशन ले लिया। अपने कॉलेज के टाइम के एक किस्से को याद करते हुए सुशांत ने एक इंटरव्यू में कहा था, 'जब मैं डीसीई में पढ़ता था तब अपने कॉलेज में एक अच्छे स्टूडेंट के रूप में जाना जाता था, लेकिन मुझे फर्स्ट सेमेस्टर से हॉस्टल से निकाल दिया गया था। दरसअल हमारे कॉलेज का एक नियम था जिसमें शाम को 7 बजे के बाद एंट्री नहीं मिलती थी। ऐसे में जब मैं सुबह निकलता तो अगली सुबह हॉस्टल वापस आना पड़ता था ताकि एंट्री मिल जाए।' इसके बाद सुशांत ने बताया कि थर्ड ईयर के मिड सेशन के बाद उन्होंने अपने इंजीनियरिंग की पढ़ाई बीच में ही छोड़ दी। क्योंकि उनके सपने सुशांत को किसी ओर ले जाना चाहते है।


फिल्म और टेलीविजन की दुनियां में सुशांत एक आउटसाइडर थे उनका इस इंडस्ट्री के साथ कोई नाता नहीं था। सुशांत एक ऐसे इंसान थे जो एक सामान्य से परिवार से बड़े- बड़े सपने लेकर मुंबई पहुंच गए। सुशांत ने इस इंडस्ट्री में अपने करियर की शुरुआत डांस के साथ की थी। सुशांत ने एक स्टेज शो के दौरान ऐश्वर्या राय के बैकग्राउंड डांसर के तौर पर भी काम किया। उन्होंने अपने एक्टिंग करियर की शुरुआत की साल 2008 में आए सीरियल 'किस देश में हैं मेरा दिल' (Kis Desh Mein Hain Mera Dil) से की थी। इसके बाद उन्हें एकता कपूर का सीरियल 'पवित्र रिश्ता' (Pavitra Rishta) में काम करने का मौका मिला जिसके बाद से उनके किस्मत के ताले खुलना शुरु हुए। इस डेली सोप में अंकिता लोखंडे (Ankita Lokhande) के साथ उनकी जोड़ी को फैंस ने खूब सराहा। इस सीरियल में उन्होंने एक सीधे सादे आदर्श पति का रोल किया था। शो जब अपने पीक पर था तो सुशांत ने इसे छोड़ फिल्मों की ओर रुख कर लिया। अपने कुछ सालों के फिल्मी करियर में उन्होंने कई हिट फिल्में जैसे 'एमएस धोनी द अनटोल्ड स्टोरी', 'छिछोरे' और 'राब्ता' दी।